YONO से इमरजेंसी लोन नहीं दे रहा है SBI, बैंक ने ​अफवाहों से सावधान रहने को कहा

  • YONO यानी ‘यू ओनली नीड वन’, यह एसबीआई का एक डिजिटल सर्विस प्लेटफॉर्म है
  • एसबीआई ने एग्री गोल्ड लोन स्कीम शुरू की है। इसमें किसान सोने के जेवर देकर लोन ले सकते हैं

दैनिक भास्कर

May 11, 2020, 10:55 AM IST

नई दिल्ली. स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (एसबीआई) ने स्पष्ट किया कि वह अपने योनो प्लेटफॉर्म के माध्यम से ग्राहकों को किसी तरह का इमरजेंसी लोन नहीं दे रहा है। कुछ खबरों में कहा गया है कि एसबीआई 45 मिनट के अंदर 5 लाख रुपए तक के इमरजेंसी लोन की पेशकश कर रहा है। इसमें यह भी कहा गया है कि इस लोन के तहत ईएमआई 6 महीने की अवधि के बाद शुरू होगी। जो पूरी तरह गलत है इस तरह की खबरों पर ध्यान न दें।

बैंक ने क्या कहा?
बैंक ने कहा, ”योनो के माध्यम से एसबीआई इमरजेंसी लोन स्कीम के बारे में व्यापक रूप से खबरें चल रही हैं। हम स्पष्ट करना चाहेंगे कि एसबीआई इस तरह का कोई लोन नहीं दे रहा है। हम अपने ग्राहकों से भी इन अफवाहों पर विश्वास न करने का आग्रह करते हैं।” हालांकि, एसबीआई ने कहा कि वह अपने उन वेतनभोगी ग्राहकों को राहत देने के लिए योनो के माध्यम से एक प्री-अप्रूव्ड पर्सनल लोन की पेशकश शुरू करने की प्रक्रिया में है, जो कोरोनावायरस के कारण आई आर्थिक समस्या के लिए होगा।

एसबीआई का एक डिजिटल सर्विस प्लेटफॉर्म है YONO
YONO यानी ‘यू ओनली नीड वन’, यह एसबीआई का एक डिजिटल सर्विस प्लेटफॉर्म है। इसके जरिए SBI अपने ग्राहकों को बैंकिंग, खरीदारी, लाइफस्टाइल और निवेश की जरूरतों के लिए एक ही जगह समाधान प्रदान करता है. ऐप की शुरुआत नवंबर 2017 में हुई थी।

किसानों को कम ब्याज पर मिल रहा एग्री गोल्ड लोन
देश में कोरोनावायरस के कारण देश में आर्थिक संकट के हालात बन गए हैं इसकी मार देश के किसान भी झेल रहे हैं। उनकी सहायता के लिए एसबीआई ने एग्री गोल्ड लोन स्कीम शुरू की है। इसके तहत किसान सोने के जेवर देकर अपनी जरूरत के मुताबिक लोन ले सकते हैं। लॉकडाउन के बीच 5 लाख से ज्यादा किसानों ने इसका फायदा उठाया है। इस स्कीम से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें