23 मार्च के बाद से म्यूचुअल फंड की लॉर्ज कैप कटेगरी ने दिया बेहतर रिटर्न, निफ्टी के बराबर का मिला निवेशकों को लाभ

  • बड़ी कंपनियों के पास रिसोर्सेस होता है और वे इसका लाभ सबसे पहले उठाती हैं
  • पिछले तीन महीनों में बाजार की गिरावट में एफआईआई निवेशकों ने अच्छा पैसा लगाया है

दैनिक भास्कर

Jun 29, 2020, 04:33 PM IST

मुंबई. 23 मार्च से लेकर अब तक निफ्टी ने करीबन 35 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी अवधि में म्यूचुअल फंड की लॉर्ज कैप कटेगरी ने भी 35 प्रतिशत तक का रिटर्न दिया है। यह इसलिए हुआ क्योंकि इस दौरान लॉर्ज कैप शेयरों में अच्छी खासी तेजी देखी गई। 23 मार्च को निफ्टी निचले स्तर पर पहुंच गया था। इसके बाद से निवेशकों ने इसका लाभ उठाया है। एफआईआई ने इस दौरान बाजार में अच्छा खासा निवेश किया है।

बाजार की रिकवरी में लॉर्ज कैप को पहले फायदा होता है

बाजार के विश्लेषकों के मुताबिक जब बाजार चलता है तब लॉर्ज कैप सबसे पहले चलता है। यानी बाजार के साथ-साथ लॉर्ज कैप स्टॉक भी अच्छा खासा रिटर्न देते हैं। आंकड़े बताते हैं कि 23 मार्च के बाद से अब तक जिन फंड हाउसों के लॉर्ज कैप फंड ने बेहतर रिटर्न दिया है, उसमें काफी सारे फंड हैं। अर्थलाभ के आंकड़ों के मुताबिक इस अवधि में इनवेस्को इंडिया लॉर्ज कैप फंड- ग्रोथ ने 34.76 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। जबकि मिरै असेट लॉर्ज कैप ने 34.40 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।

ग्रोथ फंड्स ने दिया है अच्छा रिटर्न

इसी तरह इसी अवधि में डीएसपी टॉप 100 इक्विटी फंड ने इसी अवधि में 34.26 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। आदित्य बिरला सन लाइफ फ्रंटलाइन इक्विटी ने 34.21 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। आंकड़ों के अनुसार यह सभी ग्रोथ फंड हैं। इसमें एसबीआई ब्लूचिप फंड ने 33.37 प्रतिशत का रिटर्न दिया है तो पीजीआईएम इंडिया लॉर्ज कैप ने 32.45 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। एलएंडटी इंडिया लॉर्ज कैप ने इसी अवधि में 31.65 प्रतिशत का लाभ निवेशकों को दिया है।

निफ्टी ने 35.76 प्रतिशत का लाभ दिया है

निप्पॉन इंडिया लार्ज कैप ने 28.69 प्रतिशत का रिटर्न दिया तो टॉरस लॉर्जकैप इक्विटी फंड ने 28.16 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। एलआईसी लॉर्ज कैप फंड ने 23.39 प्रतिशत का लाभ दिया तो एक्सिस ब्लूचिप ने 21.98 प्रतिशत का लाभ दिया है। विश्लेषकों के मुताबिक निफ्टी 50 टीआरआई ने इस दौरान 35.76 प्रतिशत का लाभ दिया है। हालांकि यह हाल के समय में पहला मौका है, जब इतनी कम अवधि में म्यूचुअल फंड के लॉर्ज कैप ने बेहतर रिटर्न दिया है।

अर्थव्यवस्था खुलने कंपनियों की बैलेंसशीट ठीक होगी

माना जा रहा है कि अर्थव्यवस्था खुलने पर कंपनियों की बैलेंसशीट ठीक होगी। वे जल्दी रिकवरी करेंगे, क्योंकि उनके पास रिसोर्सेस है। बाजार यहां से ठीक ठाक रहा तो आगे ये लॉर्ज कैप और बेहतर रिटर्न दे सकते हैं। बता दें कि हाल में इक्विटी बाजार की तेजी में काफी पैसे आए हैं। निवेशकों ने लॉकडाउन के समय इक्विटी बाजार में पैसे इसलिए लगाए क्योंकि ब्याज दरों में तेजी से गिरावट दिखी है। आरबीआई द्वारा रेट कट और साथ ही अन्य ब्याज दरों में गिरावट और जोखिम बढ़ने से निवेशकों का रुझान लॉर्ज कैप की ओर हो गया है। जानकार मान रहे हैं कि आनेवाले समय में इक्विटी में और इंफ्लो आ सकता है।