2028 गेम्स को लेकर खेल मंत्री रिजिजू बोले- भारत टॉप-10 में आएगा, यह बात ऐसे ही नहीं बोल रहा, हमारी तैयारी शुरू

  • खेल मंत्री किरण रिजिजू ने कहा- वर्ल्ड चैम्पियन तैयार होने में 4 से 8 साल का वक्त लगता है
  • रिजिजू ने कहा- 2024 गेम्स हमारे मिड टर्म गोल का हिस्सा है, मुख्य लक्ष्य 2028 ओलिंपिक

दैनिक भास्कर

Jun 08, 2020, 05:04 PM IST

केंद्रीय खेल मंत्री किरन रिजिजू का कहना है कि भारत 2028 के ओलिंपिक में टॉप-10 देशों में शामिल होगा। उन्होंने कहा कि वे यह बात सिर्फ ऐसे ही नहीं बोल रहे हैं, बल्कि इस दिशा में तैयारियां शुरू भी कर दी गई हैं। उन्होंने टेबल-टेनिस खिलाड़ी मनिका बत्रा के साथ इंस्टाग्राम पर लाइव चैट के दौरान यह कहा।

खेल मंत्री के मुताबिक, ‘‘जूनियर एथलीट्स भविष्य के चैम्पियंस हैं। उन्हें ध्यान में रखकर ही हमने प्लानिंग की है। हम जूनियर खिलाड़ियों को प्रोफेशनल कोचिंग के साथ तकनीकी सहयोग दे रहे हैं। वर्ल्ड चैम्पियन तैयार करने के लिए 4 से 8 साल का वक्त लगता है और इसकी शुरुआत हो चुकी है।’’

2024 में पहले से ज्यादा मेडल जीतेंगे
रिजिजू ने कहा, ‘‘2024 गेम्स हमारे मिड टर्म गोल का हिस्सा है। हमारा मुख्य लक्ष्य 2028 ओलिंपिक है। मैं जब खेल मंत्री बना तो हमारे पास सीमित टैलेंट और मेडल जीतने वाले संभावितों की संख्या कम थी। 2024 में हमारे पास ऐसी टीम होगी, जो पहले से ज्यादा मेडल जीतेगी। लेकिन 2028 को लेकर मैं पूरे विश्वास से कह सकता हूं कि हम टॉप-10 में आएंगे और इसकी तैयारी अभी से शुरू हो गई है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘लॉकडाउन के दौरान भी सरकार ने एथलीट्स को बकाया राशि का भुगतान किया है। हमने स्टायपंड नहीं रोके हैं। खासतौर पर जूनियर एथलीट्स का खास ध्यान रखा है। उनका एक भी रुपया बकाया नहीं रखा है।’’

वन स्टेट, वन गेम्स योजना से खिलाड़ी तैयार होंगे
मिशन 2028 के लिए खेल मंत्रालय ने वन स्टेट, वन गेम्स योजना भी तैयार की है। इसके लिए 14 खेल चुने गए हैं। राज्यों को ये खेल गोद दिए गए हैं। राज्यों पर ही इनके खिलाड़ियों को तैयार करने की जिम्मेदारी होगी।

वन स्टेट, वन गेम्स के तहत हरियाणा समेत 5 राज्य ओलिंपिक के लिए बॉक्सर तैयार करेंगे। दिल्ली समेत 3 राज्यों ने पहलवानों को तैयार करने की जिमेदारी ली है। मध्य प्रदेश अकेला राज्य होगा, जो निशानेबाज तैयार करेगा। 4 खेलों में आर्चरी, बॉक्सिंग, शूटिंग, बैडमिंटन, रेसलिंग, हॉकी, साइक्लिंग, एथलेटिक्स, वेटलिफ्टिंग, टेबल टेनिस, स्विमिंग, जूडो, फेंसिंग और रोइंग शामिल है।

इन खेलों के एक्सीलेंस सेंटर भी शुरू होंगे
जूडो, हॉकी, फेंसिंग और साइक्लिंग के सेंटर शुरू भी हो चुके हैं। इन सेंटरों पर जूनियर खिलाड़ियों की ट्रेनिंग के साथ पढ़ाई का भी इंतजाम किया गया है। इसके लिए कई स्कूलों से करार किया गया है।

ओलिंपिक में इन 14 खेलों में भारत का प्रदर्शन
खेल मंत्रालय ने जिन 14 खेलों को वन स्टेट और वन गेम्स के तहत शामिल किया है, उसमें भारत ने अब तक कुल 24 मेडल जीते हैं। हॉकी में भारत ने अब तक 8 गोल्ड, 1 सिल्वर और दो ब्रॉन्ज मेडल जीते हैं जबकि कुश्ती में कुल 4 पदक जीते हैं। इसमें एक सिल्वर और तीन ब्रॉन्ज शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *