1 जुलाई से बदल जाएंगे बैंकिंग से जुड़े कई नियम, एटीएम से कैश विड्रॉल पर देना होगा चार्ज

  • कोरोना के कारण सरकार ने एटीएम से कैश विड्रॉल करने के लिए सभी ट्रांजैक्शन चार्जेस हटा लिए थे
  • पीएनबी ने सेविंग अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर में 0.50% की कटौती की है जो 1 जुलाई से लागू होगी

दैनिक भास्कर

Jun 24, 2020, 02:44 PM IST

नई दिल्ली. 1 जुलाई से बैंकिंग से जुड़े कई नियमों में बदलाव होने वाले हैं। इसमें एटीएम से कैश निकालने और अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने को लेकर नियम शामिल हैं। इसके अलाव पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) भी सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज में बदलाव करने जा रहा है। हम आपको बैंक से जुड़े ऐसे हे बदलावों के बारे में बता रहे हैं जो आप पर असर डालेंगे।

सेविंग अकाउंट पर कम मिलेगा ब्याज
पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने सेविंग अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर में 0.50 फीसदी की कटौती की है ये कटौती 1 जुलाई से लागू होगी इसके बाद बैंक के बचत खाते पर अधिकतम 3.25 फीसदी का सालाना ब्याज मिलेगा। पीएनबी के बचत खाते में 50 लाख रुपए तक के बैलेंस पर 3 फीसदी सालाना और 50 लाख से ज्यादा के बैलेंस पर 3.25 फीसदी सालाना की ब्याज दर के हिसाब से ब्याज मिलेगा।

बदल जाएगा ATM से कैश निकालने का नियम
लॉकडाउन और कोरोना के कारण लोगों को एटीएम से कैश निकालने के नियम में जो रहत दी गई थीं को एक जुलाई से नहीं मिलेंगी। सरकार ने एटीएम से कैश विड्रॉल करने के लिए सभी ट्रांजैक्शन चार्जेस हटा लिए थे। सरकार ने तीन महीनों के लिए एटीएम ट्रांजैक्शन फीस हाटकर लोगों को कोरोना संकट के बीच बड़ी राहत दी थी। ये छूट सिर्फ 3 महीनों के लिए दी गई थी, जो कि 30 जून 2020 को खत्म होने वाली है। 

औसत न्यूनतम बैलेंस रखने की मियाद खत्म
कोरोना काल में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान किया था कि किसी भी बैंक में सेविंग अकाउंट में औसत न्यूनतम बैलेंस (मिनिमन बैलेंस) की अनिवार्यता नहीं होगी। यह आदेश अप्रेल से जून महीने तक के लिए था। ऐसे में खाते में मिनिमम बैलेंस ना होने पर भी लोगों को किसी तरह का जुर्माना नहीं चुकाना था। लेकिन अब 1 जुलाई से आपको अपने खाते में मिनिमम बैलेंस रखना होगा।