1 जुलाई से अटल पेंशन योजना सब्सक्राइबर्स के खातों से अपने आप कटने लगेगी किस्त, कोरोना के चलते मिली छूट 30 जून को हो रही खत्म

  • PFRDA ने बैंकों को अटल पेंशन योजना के योगदान के ऑटो डेबिट को 30 जून 2020 तक रोकने का निर्देश दिया था
  • योजना में निवेशक को 60 साल का होने पर हर महीने 1000 से लेकर 5000 रुपए की पेंशन मिलने लगेगी

दैनिक भास्कर

Jun 28, 2020, 08:27 AM IST

नई दिल्ली. 1 जुलाई से बैंक अटल पेंशन योजना सब्सक्राइबर्स के खातों से मासिक योगदान को ऑटो डेबिट करना दोबारा शुरू कर देंगे। पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) ने स्कीम के सब्सक्राइबर्स को एक ई-मेल के जरिए जानकारी दी है। इसमें कहा गया है कि जैसा 11 अप्रैल 2020 को जारी सर्रकुलर में बताया गया था कि PFRDA ने बैंकों को इस योजना के योगदान के ऑटो डेबिट को 30 जून 2020 तक रोकने का निर्देश दिया था। इसी के चलते अब खाते से 1 जुलाई से क़िस्त ऑटो डेबिट होने लगेगी।

30 जून तक रोका गया था ऑटो डेबिट
कोरोना क्राइसिस को देखते हुए PFRDA ने अप्रैल महीने में घोषणा की थी कि सब्सक्राइबर्स के बैंक अकाउंट से ऑटो डेबिट को 30 जून 2020 तक रोक दिया जाएगा।

30 सितंबर तक योगदान चुकाने पर ब्याज नहीं
PFRDA के सर्कुलर के मुताबिक, लॉकडाउन के दौरान टाले गए अंशदान का योगदान 1 जुलाई से 30 सितंबर 2020 के बीच किया जा सकता है। अंशधारकों को कोई पेनाल्टी स्वरूप ब्याज भी नहीं देना है। आमतौर पर 1 प्रतिशत का ब्याज देना होता है। इसके साथ ही जुलाई, अगस्त और सितंबर महीने का योगदान भी साथ में किया जाए।

इस योजना के तहत मिलती है 5 हजार रुपए महीना पेंशन
अटल पेंशन योजना में निवेशक को 60 साल का होने पर हर महीने 1000 से लेकर 5000 रुपए की पेंशन मिलने लगेगी। पेंशन पूरी तरह टैक्स योग्य है। इसमें 18 साल से 40 साल तक का व्यक्ति इसमें निवेश कर सकता है।

योजना से जुड़े हैं 2.23 करोड़ लोग
सरकार की ‘अटल पेंशन योजना’ को इसी साल 9 मई को 5 हुए थे। इस योजना की शुरुआत 9 मई, 2015 को हुई थी। इस योजना को पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) द्वारा संचालित किया जाता है। PFRDA के अनुसार इस योजना से अब तक 2.23 करोड़ लोग जुड़े हैं।