होमसिक खिलाड़ी घर जा सकते हैं, लेकिन दोबारा ज्वाइन करने से पहले 14 दिन क्वारैंटाइन में रहना जरूरी

  • महिला और पुरुष दोनों हॉकी टीम लॉकडाउन के कारण 25 मार्च से ही साई बेंगलुरू में हैं
  • खिलाड़ी को ट्रेनिंग के दौरान अपनी पानी की बोतल लानी होगी, कोई दूसरा छू नहीं सकता

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 07:50 AM IST

होमसिक खिलाड़ी अपने-अपने घर जा सकते हैं। लेकिन ट्रेनिंग कैंप दोबारा ज्वाइन करने से पहले उन्हें 14 दिन के अनिवार्य क्वारैंटाइन में रहना होगा। हॉकी इंडिया (एचआई) ने साई सेंटर बेंगलुरू में रह रहीं दोनों भारतीय टीमों के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) जारी किया।

पुरुष और महिला हॉकी टीमें लॉकडाउन के कारण 25 मार्च से बेंगलुरू में हैं। खिलाड़ियों ने खेल मंत्री किरेन रिजिजू से ट्रेनिंग शुरू करने की मांग की थी।

इन नियमों को मानना होगा

  • खिलाड़ी और स्टाफ के सदस्य कैंपस छोड़कर घर जा सकते हैं। लेकिन इसके लिए खिलाड़ियों को चीफ कोच से चर्चा करनी होगी।
  • खिलाड़ी और स्टाफ को साई सेंटर वापस आने के पहले दो हफ्ते के कड़े क्वारेंटाइन में रहना होगा।
  • सफर के दौरान मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल जरूरी।
  • आइसोलेशन के दौरान कोई भी खिलाड़ी के घर नहीं आ सकता। खिलाड़ी सिर्फ परिवार के संपर्क में रहेगा। किसी से नहीं मिल सकेगा। बिना काम के बाहर नहीं जा सकेगा।
  • खिलाड़ी को ट्रेनिंग के दौरान अपनी पानी की बोतल लानी होगी। कोई दूसरा बोतल छू नहीं सकता।

10 जून से एनआईएस पटियाला में ट्रेनिंग शुरू कर सकेंगे मुक्केबाज
भारतीय बॉक्सिंग फेडरेशन (बीएफआई) ने कैंप दोबारा शुरू करने के लिए प्लान बनाया है। बीएफआई ने कहा है कि ओलिंपिक क्वालिफाई कर चुके भारतीय बॉक्सर 10 जून से ट्रेनिंग शुरू कर सकेंगे। ये पुरुष और महिला खिलाड़ी एनआईएस पटियाला में ट्रेनिंग करेंगे। इन्हें फेडरेशन और साई द्वारा जारी सेफ्टी गाइडलाइन का कड़ाई से पालन करना होगा।

ओलिंपिक क्वालिफाई कर चुके खिलाड़ियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा चर्चा के बाद बीएफआई ने यह फैसला किया। बीएफआई ने कहा, ‘महिला खिलाड़ी दिल्ली के आईजी स्टेडियम में ट्रेनिंग कर रहीं थीं। अब वे भी एनआईएस पटियाला में कैंप से जुड़ेंगी।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *