सॉफ्टबैंक ग्रुप को पिछले वित्त वर्ष में 17.7 अरब डॉलर का नुकसान, कंपनी के 39 साल के इतिहास में सबसे बड़ा घाटा

  • अप्रैल महीने में कंपनी ने किराये का भुगतान भी नहीं किया
  • ओयो में 1.5 अरब डॉलर का कंपनी ने किया है निवेश

दैनिक भास्कर

May 18, 2020, 08:53 PM IST

मुंबई. जापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प ने कहा कि उसके विजन फंड बिजनेस को वी वर्क और उबर टेक्नोलॉजीज इंक सहित निवेश के मूल्य को घटाने के बाद पिछले वित्त वर्ष में 17.7 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है। यह नुकसान कंपनी के 39 साल के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा घाटा है।

1.36 ट्रिलियन येन का ऑपरेटिंग घाटा

सोमवार को कंपनी ने बयान जारी किया। इसके अनुसार, मार्च में समाप्त 12 महीनों में 1.36 ट्रिलियन येन का कुल ऑपरेटिंग लॉस और 961.6 बिलियन येन का शुद्ध नुकसान हुआ है। टोक्यो स्थित समूह सॉफ्टबैंक के संस्थापक मासायोशी सोन का 100 बिलियन डॉलर का विजन फंड एक साल पहले लाभ में मुख्य योगदान देने वाला था। अब इसमें सबसे बड़ी गिरावट आई है। पिछले मई में हुई उबर की निराशाजनक शुरुआत, सितंबर में वी वर्क में गिरावट और सॉफ्टबैंक द्वारा उसके बाद बचाव के बाद हुई थी।

वी वर्क और वन वेब भी नुकसान में शामिल

इस दौरान सॉफ्टबैंक ने भी अपने निवेश से नुकसान दर्ज किया। इसमें WeWork और सैटेलाइट ऑपरेटर OneWeb शामिल हैं। जिसने मार्च में दिवालियापन के लिए आवेदन किया था। पिछले साल, WeWork के लिस्टिंग की कोशिश फ़ेल हो गई। इसके बाद सॉफ्टबैंक ने 9.5 बिलियन डॉलर के बेल आउट के लिए अपने मुख्य ऑपरेटिंग ओफिसर मार्सेलो क्लैर को मैदान में उतार दिया। इस साल की शुरुआत में जापानी कंपनी ने पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी एडम न्यूमन सहित मौजूदा शेयरधारकों से 3 बिलियन डॉलर शेयर खरीदने के लिए समझौते के एक हिस्से को खत्म कर दिया था।

किराया बचाने के लिए वर्क फ्रॉम होम का फॉर्मूला

सॉफ्टबैंक नियंत्रण के तहत, WeWork ने सरकार द्वारा अनिवार्य कोविड-19 quarantine के बाद कैंसिलेशन को कम करने के लिए कुछ किरायेदारों को छूट की पेशकश कर रहा है। इसने गैर-आवश्यक कर्मचारियों को विश्व स्तर पर वर्क फ्रॉम होम के लिए मजबूर किया है। जानकारों के अनुसार, न्यूयॉर्क स्थित कंपनी भी कुछ स्थानों में अप्रैल महीने के किराए का भुगतान नहीं किया है। किराए में कमी के लिये, रेवेन्यू शेयरिंग एग्रीमेंट के लिए और अन्य लीज संशोधनों के बारे में मालिकों से मीटिंग कर रहे हैं ताकि देनदारियाँ कम की जा सके।

भारतीय कंपनी ओयो के निवेश से भी हुआ नुकसान

होटल बुकिंग सेवा Oyo होटल और होम्स और उबर में सोन के निवेश ने खराब प्रदर्शन किया है। ओयो में सॉफ्टबैंक ने लगभग 1.5 बिलियन डॉलर का निवेश किया था। पिछले महीने भारतीय बाजार के बाहर के देशों में कर्मचारियों को छुट्टी पर भेज दिया। क्योंकि यह वायरस के प्रभाव से बचने के लिए संघर्ष कर रहा है। उबर के शेयर अपने आईपीओ प्राइस से करीब 28 प्रतिशत नीचे कारोबार कर रहा है। निवेश की चिंता बढ़ी तो सोन ने ताबड़तोड़ दो शेयरों में बायबैक किया।

एक सप्ताह में 30 प्रतिशत गिरे शेयर

मार्च के मध्य में घोषित पहली 500 बिलियन येन की पुनर्खरीद भी सॉफ्टबैंक के स्टॉक को बढ़ाने में नाकाम रही।जब शेयर एक सप्ताह में 30 प्रतिशत से अधिक गिर गए तो सोन ने 2 ट्रिलियन येन का फॉलोअप का प्लान बनाया। सॉफ्टबैंक पहले आवंटन का लगभग आधा उपयोग कर चुका है। कंपनी ने शुक्रवार को कहा कि उसने मूल री-खरीद योजना के तहत 13 मार्च से अपने स्टॉक का 250.6 अरब येन खरीद लिया है।