सैमसंग बना दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा स्मार्टवॉच विक्रेता, पहली तिमाही में 19 लाख यूनिट्स बेचीं; 76 लाख यूनिट्स के साथ एपल पहले स्थान पर

  • पहली तिमाही में सैमसंग का मार्केट शेयर 14.9 फीसदी से गिरकर 13.9 फीसदी पर पहुंच गए।
  • इस दौरान एपल का मार्केट शेयर 54.4 फीसदी से बढ़कर 55.5 फीसदी हो गया।

दैनिक भास्कर

May 10, 2020, 04:38 PM IST

सियोल. वियरेबल डिवाइस की बढ़ती लोकप्रियता के बीच, सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स साल की पहली तिमाही में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा स्मार्टवॉच विक्रेता बन गया है। मार्केट रिसर्च फर्म स्ट्रेटजी एनालिटिक्स की रिपोर्ट के मुताबिक, जनवरी-मार्च के दौरान सैमसंग ने 1.9 मिलियन (यानी 19 लाख) स्मार्टवॉच का शिपमेंट किया, जो पिछले साल की तुलना में ज्यादा है। 2019 की पहली तिमाही में कंपनी ने 17 लाख स्मार्टवॉच का शिपमेंट किया था। हालांकि इस अवधि में मार्केट शेयर 14.9 फीसदी से गिरकर 13.9 फीसदी पर पहुंच गए।

स्ट्रैटजी एनालिटिक्स के सीनियर एनालिटिक्स स्टीवन वाल्टज़र ने बताया कि सैमसंग दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा स्मार्टवॉच विक्रेता है, लेकिन घरेलू बाजार यानी दक्षिण कोरिया में कोरोनोवायरस लॉकडाउन की वजह से इसकी ग्रोथ को धीमा कर दिया गया और गार्मिन जैसे प्रतियोगियों से प्रतिस्पर्धा को नए सिरे से बढ़ाया दिया है।

76 लाख यूनिट्स के साथ एपल पहले स्थान पर
हालांकि एपल इस दौरान नंबर वन पोजीशन पर बना रहा। टेक कंपनी एपल ने जनवरी से मार्च के दौरान 76 लाख स्मार्टवॉच का शिपमेंट किया। जबकि पिछले साल पहली तिमाही में एपल ने 62 लाख यूनिट्स का शिपमेंट किया था। इसका मार्केट शेयर 54.4 फीसदी से बढ़कर 55.5 फीसदी हो गया है।

11 लाख यूनिट्स के साथ ग्रामिन तीसरे स्थान पर
लिस्ट में ग्रामिन 8 फीसदी मार्केट शेयर के साथ तीसरे पायदान पर रहा। कंपनी ने साल की पहली तिमाही में 11 लाख स्मार्टवॉच का शिपमेंट किया।

दूसरी तिमाही में गिर सकता है आंकड़ा-रिपोर्ट
कोरोनावायर महामारी के बावजूद पहली तिमाही में ग्लोबल स्मार्टवॉच शिपमेंट 20 फीसदी बढ़कर 14 लाख यूनिट्स रहा। हालांकि उम्मीद की जा रही है कि दूसरी तिमाही में शिपमेंट में गिरावट देखने को मिल सकती है। यूरोप और यूके में लॉकडाउन के कारण सेल्स में काफी असर पड़ा है।