सरकार ने की TDS में 25% कटौती की घोषणा, यह वित्त वर्ष 2020-21 में रहेगी लागू

  • यह कटौती 14 मई से सभी पेमेंट पर लागू होगी चाहे वह कमीशन हो, ब्रोकरेज हो या कोई अन्य पेमेंट हो
  • सरकार के इस कदम से लोगों और व्यापारों को 55 करोड़ रुपए का फायदा होगा

दैनिक भास्कर

May 13, 2020, 09:38 PM IST

नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कोविड-19 के 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज के ब्रेकअप की जानकारी दे दी। इस पैकेज के तहत सरकार ने टैक्स डिडक्टेड ऐट सोर्स (टीडीएस) में भी 25 प्रतिशत की कटौती की है। यह कटौती 14 मई से सभी पेमेंट पर लागू होगी चाहे वह कमीशन हो, ब्रोकरेज हो या कोई अन्य पेमेंट।

क्या है टीडीएस को लेकर घोषणा?
केंद्र सरकार ने टीडीएस दर में  25 प्रतिशत की कटौती की है। यह कटौती वित्त वर्ष 2020-21 की शेष अवधि यानि 14 मई से 31 मार्च 2021 तक उपलब्ध होगी। सरकार के इस कदम से लोगों और व्यापारों को 55 करोड़ रुपए का फायदा होगा।

किसे मिलेगा फायदा?

अभय शर्मा, पूर्व अध्यक्ष इंदौर चार्टर्ड अकाउंटेंट के अनुसार टीडीएस की घटी हुई दर का लाभ कांट्रैक्ट के लिए भुगतान, प्रोफेशनल फीस, ब्याज, किराया, डिविडेंड, कमिशन, ब्रोकरेज आदि में भी मिल सकेगा। इससे लोगों के पास पैसा बचेगा जिससे उन्हें कोरोना संकट में आर्थिक मदद मिलेगी। 

क्या है टीडीएस?

अगर किसी की कोई आय होती है तो उस आय से टैक्स काटकर अगर व्यक्ति को बाकी रकम दी जाए तो टैक्स के रूप में काटी गई रकम को टीडीएस कहते हैं। सरकार टीडीएस के जरिए टैक्स जुटाती है। यह अलग-अलग तरह के आय स्रोतों पर काटा जाता है जैसे सैलरी, किसी निवेश पर मिले ब्याज या कमीशन आदि पर। कोई भी संस्थान (जो टीडीएस के दायरे में आता है) जो भुगतान कर रहा है, वह एक निश्चित रकम टीडीएस के रूप में काटता है।