शेयर बिक्री और एडीआर के जरिए 13 हजार करोड़ रुपए जुटा सकता है एचडीएफसी बैंक, तीसरी तिमाही में आ सकता है ऑफर

  • बैंक की बुक पर सितंबर के बाद दिखाई देगा कोरोना का प्रभाव
  • लिक्विडिटी को मजबूत बनाए रखने के लिए जुटाई जा सकती है पूंजी

दैनिक भास्कर

Jun 28, 2020, 01:33 PM IST

नई दिल्ली. निजी क्षेत्र का प्रमुख बैंक एचडीएफसी बैंक 10 से 13 हजार करोड़ रुपए की पूंजी जुटाने की योजना बना रहा है। यह पूंजी भारत में शेयरों की बिक्री और अमेरिकन डिपॉजिटरी रिसीप्ट (एडीआर) जारी करके जुटाई जा सकती है। इस मामले से वाकिफ दो सूत्रों के हवाले से एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पूंजी जुटाने के लिए बैंक चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में यह ऑफर ला सकता है। भारत के उभरते हुए बैंकों की लिस्ट में शामिल होने के लिए बैंक यह पूंजी जुटाने की योजना बना रहा है।

अभी शुरुआती चरण में है योजना

एक सूत्र के मुताबिक, पूंजी जुटाने की यह योजना अभी शुरुआती चरण में है। बैंक अभी कोरोना महामारी के कारण पैदा हुए हालातों पर नजर बनाए हुए है। सूत्र के मुताबिक, बैंक पूंजी जुटाने के लिए शेयर बिक्री और एडीआर के अलावा क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (क्यूआईपी) भी जारी कर सकता है। हालांकि, इस संबंध में एचडीएफसी बैंक के प्रवक्ता ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

तीसरी तिमाही की शुरुआत में आ सकता है ऑफर

एक सूत्र का कहना है कि बैंक की बुक पर कोरोना का प्रभाव सितंबर के बाद दिखाई देगा। ऐसे में पूंजी जुटाने के लिए शेयर बिक्री समेत अन्य ऑफर चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में आ सकते हैं। बैंक अगले चार-पांच महीने में बाजार में नए शेयर ऑफर कर सकता है। सूत्र का कहना है कि बैंक अपने कैपिटल बफर और लिक्विडिटी को मजबूत बनाए रखने के लिए यह पूंजी जुटा सकता है। 

एम-कैप के लिहाज से एचडीएफसी देश का सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक

एसेट्स और मार्केट कैपिटलाइजेशन (एम-कैप) के लिहाज से एचडीएफसी बैंक देश का सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक है। एचडीएफसी बैंक का मार्केट कैप इस समय 5.8 लाख करोड़ रुपए है। वित्त वर्ष 2020 में बैंक का शुद्ध राजस्व 20.6 फीसदी बढ़कर 79,447 करोड़ रुपए रहा है। बैंक का कैपिटल एडिक्वेसी रेशियो 18.5 फीसदी रहा है। बैंक का ग्रॉस और शुद्ध एनपीए क्रमश: 1.26% और 0.36% रहा है।