व्हाइट विलो ने देश-विदेश में बेचा 2.5 लाख तकिया, अच्छी नींद के लिए रिसर्च के साथ होता है तकिया का निर्माण, तीन लोगों की टीम ने खड़ी की कंपनी

  • ऑन लाइन सर्वे में पता चला कि 70 प्रकार से अधिक तकियों का होता है निर्माण
  • नए तकिए के साथ एडजस्ट होने के लिए कंपनी 101 रात के लिए देेती है ट्रायल

दैनिक भास्कर

Jun 27, 2020, 04:06 PM IST

मुंबई. व्हाइट विलो ने भारत और विदेशों के ग्राहकों को 2.5 लाख तकिया बेचा है। यह ऐसा तकिया है जो लोगों के नींद संबंधित स्वास्थ्य में तेजी से योगदान दे रहा है। भारत में आरामदायक और सस्ती मेमोरी फोम तकिए के लिए शुरू किया ऑनलाइन सर्च में पता चला कि एक ऐसा भी ब्रांड है जहां 70 से अधिक प्रकार के तकिए का निर्माण होता है। इससे लोगों को अच्छी एयर सुकून वाली नींद नसीब होती है।

2015 में लांच हुआ स्टार्टअप व्हाइट विलो

2015 में लॉन्च किया गया बूटस्ट्रैप्ड स्टार्टअप अब एक तेजी से बढ़ता हुआ बिजनेस है। इसका मकसद हर किसी के लिए टिकाऊ और आरामदायक तकिया लाना है। इसे व्हाइट विलो जैसा सटीक नाम भी दिया गया है। यह अक्सर लिनन और विलो पेड़ों के सामानों से बनता है। इसके उपयोग से चिंता, तनाव और दर्द को कम करने में मदद मिलती है। क्योंकि इसमें औषधीय गुण होते हैं। अपने 5 वर्षों के छोटे से समय में व्हाइट विलो ने भारत और विदेशों में ग्राहकों को 2.5 लाख तकिया बेचे है। यह तेजी से ग्राहकों की नींद और स्वास्थ्य में योगदान दे रहा है।

तीन फाउंडर्स ने शुरु किया व्हाइट विलो

इसके फाउंडर्स-अनुज, एक सीरियल आंतरप्रेन्योर हैं। मेघना, एक सोशल वर्कर हैं।  अभिषेक इनवेस्टमेंट बैंकर रह चुके हैं। बाजार में अच्छी क्वालिटी मेमोरी फोन वाली तकिए की अनुपस्थिति में इन तीनों लोगों को एक अच्छा अवसर दिख रहा था। इसके बाद जल्द ही तीनों ने भारत में तकिया उद्योग में बाजार के अवसरों और ग्राहकों की जरूरतों की खोज को सेट किया। हैरानी की बात यह है कि ज्यादातर लोग तकिया खरीदने के बारे में ज्यादा सोच-विचार नहीं करते।

अच्छी नींद, अच्छे स्वास्थ्य का आधार है

व्हाइट विलो में प्रोडक्ट रिसर्च और ब्रांड डेवलपमेंट की जिम्मेदारी संभाल रही मेघना का कहना है कि हम सभी जानते हैं कि अच्छी नींद अच्छे स्वास्थ्य का आधार है। हमें बाजार में उपलब्ध गद्दे के बारे में पता होता है। हम यह भी जानते हैं कि वह अच्छी नींद में किस तरह से योगदान करते हैं, परंतु तथ्यों के बारे में एक ग्राहक ऐसा कोई अपना प्रेफरेंस नहीं सेट कर पाता है। ना ही इसके बारे में कोई जागरूकता होती है। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों के अनुसार, अच्छी नींद सुनिश्चित करने में तकिया एक बड़ी भूमिका निभाता है।

मार्केट के बारे में पहले पता किया गया

सीधे-सीधे तकिए की  मैन्युफैक्चरिंग में उतरने की बजाय इसके संस्थापकों ने यह तय किया कि पहले यह पता लगाया जाए कि उनका मार्केट क्या होगा। मार्केट में खाली जगह को भरने के लिए कैसा प्रोडक्ट लाया जाए। एक  मार्केट रिसर्च से पता चला है कि भारत में ज्यादातर लोग वही तकिया यूज़ करते हैं जो उन्हें गद्दे के साथ मिलता है। परिवार के हर सदस्य एक जैसे ही तकिए का इस्तेमाल करते हैं।

अच्छे तकिए के बारे में लोगों को कम जानकारी है

जाहिर है, ज्यादातर लोगों में तथ्यों से संबंधित  शिक्षा का अभाव है। अच्छे तकिए का चुनाव कर किस तरह से अच्छी नींद ली जाए, इसके बारे में लोगों को जागरूक किया जाना जरूरी है। गौरतलब है कि हर व्यक्ति की शारीरिक बनावट के आधार पर और उसकी नींद लेने की विशेषता के आधार पर अलग-अलग तकियों की जरूरत होती है। TWW के संस्थापकों ने भारतीय तकिया बाजार में अपनी जगह बनाने के लिए एक त्रिआयामी दृष्टिकोण (three-pronged approach) का पालन किया।

कम लागत में अच्छी डिजाइन और हाई क्वालिटी तकिया का निर्माण

इसमें सबसे पहले कम लागत से वैज्ञानिक रूप से  अच्छी डिजाइन, हाई क्वालिटी वाले मेमोरी फोम तकिए का बड़े पैमाने पर उत्पादन करने की योजना बनाई गई। अनुज ने आरएंडडी और प्रॉडक्ट डिजाइन में मेघना के योगदान के साथ रणनीति और ऑपरेशन में अपने पर्याप्त अनुभव का लाभ उठाते हुए शुरुआत से ही कारोबार के इस पहलू पर पूरे जोश के साथ काम कर रहे हैं। इन वर्षों में कंपनी ने अलग-अलग लॉफ्ट्स, शेप और साइज के तकिए बनाई है। इससे खरीदारों को उन प्रोडक्ट को चुनने में मदद मिली है जो उन्हें सबसे अच्छा सूट करते हैं।

नींद की क्वालिटी में सुधार पर फोकस

दूसरा मामला नींद की क्वालिटी में सुधार के लिए एक सही तकिया के उपयोग के लाभ के बारे में लोगों को शिक्षित करने के लिए क़्वालिटी कंटेंट के प्रसार का था। TWW में डिजिटल मार्केटिंग, डेटा एनालिसिस और फाइनेंस संभालनेवाले  अभिषेक ने सही तकिया चुनने के बारे में जन जागरूकता पैदा की। बाद में अपने प्रोडक्ट्स के लिए डिमांड क्रिएट किया है। अब उनके प्रोडक्ट्स टॉप ई-कॉमर्स प्लेटफार्म पर बेचे जाते हैं।

बीएएसएफ के साथ कंपनी ने की भागीदारी

अंत में, मेमोरी फोम तकिए का निर्माण करने के लिए कंपनी ने BASF के साथ भागीदारी की। यह दुनिया के अग्रणी केमिकल सप्लायर्स में से एक है। इससे भारत में जर्मन टेक्नोलॉजी से लेकर स्थानीय स्तर पर कच्चे माल की खरीद कर प्रोडक्ट बनाए जा रहे हैं। BASF ने TWW को उन प्रोडक्ट्स के निर्माण में मदद की है जो पर्यावरण के स्टैंडर्ड का पालन करते हैं। अपने पॉलीयूरेथेन लचीले फोम – CosyPUR ® के उपयोग के माध्यम से हाई क्वालिटी के तकिए बनाए जाने लगे हैं। इससे लोगों को अच्छी नींद मिलने लगी है।

लगातार इन्नोवेशन और सर्विस पर फोकस

इन्नोवेशन और सर्विस को मूलमंत्र मानने वाली, TWW लगातार यूजर्स को आराम प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किए गए नए प्रोडक्ट्स और कॉम्बो को लॉन्च करता रहता है। इस कड़ी में नया लांच तकिया और कुशन ‘वर्क फ्रॉम होम’ की रेंज के लिए हैं। मेघना कहती हैं कि ग्राहक हमारी नंबर वन प्राथमिकता हैं। हम ग्राहकों की चिंताओं को वास्तविक सहानुभूति के साथ सक्रिय रूप से हल करते हैं। ग्राहक को नए तकिए के साथ एडजस्ट करने के लिए हम सभी तकिए पर 101 रात का ट्रायल प्रदान करते हैं। कुछ तकिए के अन्य सेट पर  30 रात का ट्रायल भी मिलता है। यह ट्रायल कुशन पर भी मिलता है।

सभी प्रोडक्ट स्किन के मुताबिक हैं

वे आगे कहती हैं कि हमारे सभी प्रोडक्ट स्किन के अनुकूल, हाइपोएलर्जेनिक कवर के साथ आते हैं। इससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि ग्राहकों को एक नेचुरल और ताज़ा नींद का अनुभव हो। कंपनी ऑनलाइन बिक्री पर ज्यादा ध्यान देती है। इसका नाम अमेज़न इंडिया और अन्य बाजार में टॉप सेलिंग ब्रांड्स में शामिल है। इसके अतिरिक्त, व्हाइट विलो टीम (The White Willow) प्रीमियम क़्वालिटी वाले मेमोरी फोम गद्दे सहित अपनी लिस्ट में जोडने वाली है। साथ ही अधिक नींद  वाले प्रोडक्ट को जोड़कर ग्लोबल फुटप्रिंट छोड़ने की राह पर है।