वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग करने पर आ सकता है भारी-भरकम बिल, ट्राई ने ग्राहकों को किया अलर्ट, जारी की एडवाइजरी

  • ट्राई ने लोगों से ऑडियो कॉन्फ्रेंस प्लेटफॉर्म से जुड़ने के दौरान सावधानी बरतने की अपील की है।

  • लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भारी इजाफा देखने को मिला है

दैनिक भास्कर

May 12, 2020, 07:29 PM IST

लॉकडाउन के दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भारी इजाफा देखने को मिला है। वर्क फ्राॅम होम से लेकर ऑनलाइन क्लासेज सबकुछ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रहा है। बढ़ती डिमांड को देखते हुए ही टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने एक एडवाइजरी जारी की है। ट्राई ने लोगों से ऑडियो कॉन्फ्रेंस प्लेटफॉर्म से जुड़ने के दौरान सावधानी बरतने की अपील की है। बता दें कि हाल ही में कुछ लोगों ने वीडियो कॉलिंग और ऑनलाइन ऑडियो कॉलिंग को लेकर शिकायत की थी जिसमें उन्होंने कहा था कि कॉलिंग के बाद उन्हें भारी-भरकम रकम अदा करनी पड़ी है। शिकायत के बाद ट्राई ने अपनी एडवाइजरी में कहा है कि किसी भी ऑनलाइन वीडियो या ऑडियो कॉल को ज्वाइन करने से पहले उसकी शर्तों और शुल्क के बारे में जानकारी प्राप्त करें।

ऑडियो कॉन्फ्रेंसिंग ज्वॉइन करने से पहले नियम शर्तों को जांच लें
ट्राई ने कहा है कि उपभोक्ता ऑडियो कॉल्स से ऑनलाइन कॉन्फ्रेंसिंग ज्वॉइन करने से पहले उन नंबरों और हेल्पलाइंस पर कॉल रेट जांच लें। प्राधिकरण ने एडवाइजरी में कहा है, ‘ट्राई के संज्ञान में आया है कि कुछ उपभोक्ताओं को उस वक्त भारी बिल का सामना करना पड़ा, जब उन्होंने ऑडियो कॉल्स के जरिए किसी ऑनलाइन कॉन्फ्रेंसिंग प्लेटफॉर्म को ज्वॉइन किया और अंजाने में उनसे कोई अंतर्राष्ट्रीय फोन नंबर या प्रीमियम नंबर डायल हो गया।’

कॉल टर्मिनेशन चार्ज 35-65 पैसे प्रति मिनट किया गया है
बता दें कि पिछले महीने ही ट्राई ने अंतरराष्ट्रीय कॉल को गंतव्य पर पहुंचाने के शुल्क (कॉल टर्मिनेशन चार्ज) में शुक्रवार को एक दायरे में बढ़ोत्तरी करने की छूट दी। पहले यह 30 पैसे प्रति मिनट थी जिसे अब 35-65 पैसे प्रति मिनट कर दिया है। इससे दूरसंचार कंपनियों को लाभ की उम्मीद है।