वियतनाम में 50 दिन बाद फुटबॉल की वापसी, 30 हजार दर्शकों की मौजूदगी में मैच हुआ

  • 10 करोड़ की आबादी वाले वियतनाम में कोरोना के सिर्फ 328 मामले, वायरस से एक भी मौत नहीं हुई
  • स्पेन, इटली और इंग्लैंड में इसी महीने क्लब फुटबॉल की वापसी, लेकिन कहीं भी दर्शकों को स्टेडियम में आने की इजाजत नहीं

दैनिक भास्कर

Jun 06, 2020, 11:32 AM IST

कोरोनावायरस की वजह से दुनियाभर में बिना फैन्स के फुटबॉल टूर्नामेंट शुरू हो रहे हैं। वहीं, वियतनाम में 50 दिन बाद दर्शकों की मौजूदगी में फुटबॉल की वापसी हुई। यहां की प्रोफेशनल फुटबॉल लीग में शुक्रवार को तीन लीग मुकाबले खेले गए। एक मैच में तो करीब 30 हजार दर्शक मौजूद थे।

इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का भी बहुत ज्यादा पालन होता नहीं दिखा। दर्शक एक-दूसरे के बिल्कुल करीब बैठे थे। ज्यादातर लोगों ने मास्क भी नहीं पहने थे। स्टेडियम में एंट्री करने से पहले जरूर दर्शकों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई थी। 

स्टेडियम में मैच देखने पहुंचे एक दर्शक ने बताया कि अगर हम कोरोना से डरते तो मैच देखने ही नहीं आते। हमारे देश में कोरोना से लड़ने के जो उपाय अपनाए गए, वो लोगों को स्वस्थ रखने में सफल रहे। इसलिए अब लोग घर से निकलकर स्टेडियम आ रहे हैं।

वियतनाम में कोरोना की वजह से मार्च में प्रोफेशनल फुटबॉल लीग पर रोक लगाई थी। एक दिन पहले ही मुकाबले शुरू हुए।

वियतनाम के फुटबॉल कप्तान ने कहा- दर्शको्ं की मौजूदगी सुखद

वियतनाम की फुटबॉल टीम के कप्तान क्वे हई भी दर्शकों की मौजूदगी से काफी खुश हैं। उन्होंने कहा- दर्शकों को स्टेडियम में देखना सुखद एहसास है। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि हमारी दूसरे देशों से तुलना की जाए। लेकिन कोरोना के बावजूद वियतनाम में फुटबॉल की वापसी हुई है। यह बताता है कि हमने कोरोना के खिलाफ लड़ाई कितनी मजबूती से लड़ी है।  

वियतनाम में शुक्रवार से प्रोफेशनल फुटबॉल लीग शुरू हुई है। इसके मुकाबले देखने के लिए स्टेडियम में हजारों की संख्या में फैन्स पहुंच रहे।

वियतनाम में कोरोना की वजह से मार्च में फुटबॉल पर रोक लगा दी गई थी। लेकिन इन 50 दिनों में इस 10 करोड़ की आबादी वाले देश में कोरोना के सिर्फ 328 मामले ही सामने आए, जबकि किसी भी संक्रमित की मौत नहीं हुई। वो भी तब जब वियतनाम की सीमा चीन से लगी है। जहां के वुहान शहर से कोरोना पूरी दुनिया में फैला। 

वियतनाम में बड़े पैमाने पर लोगों की टेस्टिंग हुई

कोरोना को नियंत्रित रखने के लिए दुनियाभर में वियतनाम की तारीफ हो रही है। यहां संक्रमण को काबू में रखने के लिए बड़े पैमाने पर लोगों की टेस्टिंग की गई। सेंट्रलाइज्ड क्वारैंटाइन प्रोग्राम बनाया गया। इससे वायरस को नियंत्रित करने में काफी मदद मिली। 

स्टेडियम में पहुंचे दर्शकों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। लेकिन कोई भी मास्क पहने नजर नहीं आ रहा। 

इटली, स्पेन में बिना दर्शकों के होगी क्लब फुटबॉल की वापसी

वियतनाम में दर्शकों के साथ फुटबॉल की वापसी उन तमाम देशों के लिए सबक है जो इस खेल की वापसी को लेकर जूझ रहे हैं। जर्मनी में पिछले महीने ही क्लब फुटबॉल की वापसी हुई है। लेकिन यहां भी दर्शकों को स्टेडियम में आने की इजाजत नहीं है। न ही खिलाड़ी गोल का जश्न मना सकते हैं।

इसी महीने इटली, स्पेन और इंग्लैंड में भी क्लब फुटबॉल की वापसी होनी है। लेकिन यहां भी कोरोना का इतना ज्यादा डर है कि ट्रेनिंग के दौरान भी फैन्स को आने की इजाजत नहीं है। खिलाड़ियों और स्टाफ के लगातार कोरोना टेस्ट हो रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *