लॉकडाउन में खिलाड़ियों से मैदान छूटा तो किताबों से कर ली दोस्ती

  • खिलाड़ी स्पोर्ट्स साइंस और टेक्नोलॉजी के अलावा आध्यात्मिक और ऐतिहासिक किताबें पढ़ रहे
  • भारतीय हॉकी टीम के गोलकीपर श्रीजेश खेल को समझने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के कोच की बायोग्राफी पढ़ रहे

दैनिक भास्कर

Apr 23, 2020, 06:08 AM IST

नई दिल्ली. देश में लॉकडाउन के बीच खिलाड़ी अपने घर पर हैं। मैदान से दूर होने के बाद अधिकतर खिलाड़ियों ने किताबों से दोस्ती कर ली है। वे प्रैक्टिस और फिटनेस पर फोकस तो कर ही रहे हैं। इस बीच, किताबें पढ़कर ज्ञान भी बढ़ा रहे हैं। कुछ खिलाड़ी स्पोर्ट्स साइंस एंड टेक्नोलॉजी की किताबें पढ़ रहे हैं तो कुछ की रुचि आध्यात्मिक और ऐतिहासिक किताब पढ़ने में हैं। कुछ कथा-कहानी पढ़ रहे हैं तो कुछ उपन्यास। 23 अप्रैल को वर्ल्ड बुक डे है। पढ़िए खिलाड़ियों की रीडिंग हैबिट के बारे में…

क्रिकेट: तानिया को सोशल मीडिया नहीं, रीडिंग पसंद

तानिया भाटिया: भारतीय टीम की विकेटकीपर तानिया भाटिया को सोशल मीडिया की बजाय किताबें पढ़ना ज्यादा पसंद है। उनका मानना है कि किताबें शांत रखने में मदद करती हैं। वे हमेशा कुछ नया सीखने की कोशिश करती हैं।  

स्मृति मंधाना: भारतीय क्रिकेटर स्मृति मंधाना को वर्चुअल रीडिंग ज्यादा पसंद है। वे ऑनलाइन मैगजीन और खेल से संबंधित किताबें पढ़ रही हैं। वे रोजाना अखबार भी पढ़ती हैं।

स्मृति मंधाना लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन किताबें पढ़ रही हैं।  

अनुजा पाटिल: भारतीय महिला टीम की स्पिनर अनुजा पाटिल कर्ण की ऑटोबायोग्राफी “मृत्युंजय’ पढ़ रही हैं। वे कहती हैं, “इससे उन्हें मैदान पर रणनीति बनाने में मदद मिलेगी।’ 

भारतीय महिला क्रिकेटर अनुजा महाभारत के पात्र कर्ण से जुड़ी किताब पढ़ रही हैं। 

हॉकी: एक महीने में चार किताब पढ़ने का लक्ष्य 

पीआर श्रीजेश: भारतीय हॉकी टीम के गोलकीपर पीआर श्रीजेश बेंगलुरू स्थित साई सेंटर में हैं। वे कहते हैं, ‘रीडिंग करना अब आदत हो गई है। मैंने एक महीने में चार किताब पढ़ने का लक्ष्य रखा है।’ 

भारतीय हॉकी टीम के गोलकीपर श्रीजेश कोचिंग से जुड़ी किताबें पढ़ रहे हैं। 

विवेक सागर प्रसाद: मिडफील्डर विवेक भी साई सेंटर में हैं। वे मानसिक मजबूती पर काम कर रहे हैं। वे अमेरिकी आर्मी के सबसे खतरनाक स्नाइपर की ऑटोबायोग्राफी ‘अमेरिकन स्नाइपर’ पढ़ रहे हैं।  

खुद को मानसिक रूप से मजबूत बनाने के लिए भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ी विवेक ने किताबों से दोस्ती की है। 

शूटिंग/एमएमए: किताबें चिंता-मानसिक तनाव दूर कर रहीं

श्रेया अग्रवाल: शूटर श्रेया अग्रवाल फैंटेसी उपन्यास ‘द क्रोनिकल्स ऑफ नार्निया’ पढ़ रही हैं। श्रेया कहती हैं, ‘किताबें चिंता दूर करने में मदद करती हैं। इससे एकाग्रता बढ़ती है।’ 

रितु फोगाट: मिक्स्ड मार्शल आर्ट फाइटर रितु फाेगाट घर से दूर सिंगापुर में हैं। वे लॉकडाउन के दौरान मानसिक तनाव दूर करने के लिए ‘द सीक्रेट’ किताब पढ़ रही हैं। 

तेजस्विनी सावंत: ओलिंपिक कोटा दिला चुकीं इंटरनेशनल शूटर तेजस्विनी सावंत छत्रपति शिवाजी महाराज की ऐतिहासिक बायोग्राफी ‘श्रीमान योगी’ पढ़ रही हैं। वे मराठी की माइथोलॉजिकल किताब ययाति और पानीपत पढ़ चुकी हैं। 

राहुल अवारे: कॉमनवेल्थ चैंपियन रेसलर राहुल अवारे नासिक में पुलिस ट्रेनिंग ले रहे हैं। वे महाराष्ट्र पुलिस में डीवायएसपी हैं। फ्री-टाइम में अध्यात्म और कुश्ती की नई टेक्नोलॉजी पर आधारित किताबें पढ़ रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *