लॉकडाउन बढ़ाने से आर्थिक तनाव के साथ एक और मेडिकल संकट पैदा होगा: आनंद महिंद्रा

  • उद्योगपति बोले- लॉकडाउन से नहीं मिलेगी मदद, बढ़ती रहेगी कोरोना मरीजों की संख्या
  • अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने और ऑक्सीजन की व्यवस्था करने पर हो पूरा ध्यान

दैनिक भास्कर

May 26, 2020, 08:45 AM IST

नई दिल्ली. सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने देश में चल रहे लॉकडाउन को लेकर बयान दिया है। आनंद महिंद्रा ने कहा है कि लॉकडाउन को बढ़ाने से ना सिर्फ आर्थिक तनाव बढ़ेगा, बल्कि नया स्वास्थ्य संकट भी पैदा करेगा। महिंद्रा ने ट्वीट कर कहा कि लॉकडाउन को आगे बढ़ाना न सिर्फ अर्थव्यवस्था के लिए घातक होगा। बल्कि जैसा कि मैंने पहले भी ट्वीट कर कहा है कि यह एक अन्य स्वास्थ्य संकट को पैदा करने वाला होगा।

नीति निर्माताओं के लिए आसान नहीं

‘लॉकडाउन के खतरनाक मनोवैज्ञानिक प्रभाव और कोविड-19 के अलावा अन्य मरीजों की अनदेखी’ विषय पर लिखे एक लेख का हवाला देते हुए महिंद्रा ने लॉकडाउन के 49 दिन बाद इसे हटाने का प्रस्ताव किया था। उन्होंने कहा कि नीति निर्माताओं के लिए चयन करना आसान नहीं है, लेकिन लॉकडाउन से भी मदद नहीं मिलने वाली है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या लागतार बढ़ती रहेगी और हमारा पूरा ध्यान तेजी से अस्पताल के बिस्तरों की संख्या बढ़ाने और ऑक्सीजन की व्यवस्था करने पर होना चाहिए। महिंद्रा ने इस काम में सेना की मदद लेने के लिए भी कहा, क्योंकि सेना के पास इसका तजुर्बा है।

लॉकडाउन की घोषणा से पहली भी जताई थी चिंता

22 मार्च को सरकार की ओर से देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा से पहले भी आनंद महिंद्रा ने कोरोनावायरस संक्रमण को लेकर चिंता जताई थी। महिंद्रा ने उन रिपोर्ट पर ध्यान देने को कहा था जिनमें कहा गया था कि भारत पहले ही कोरोना संक्रमण की तीसरी स्टेज में पहुंच गया है। इससे पहले भी आनंद महिंद्रा कोरोनावायरस को लेकर ट्विटर के माध्यम से अपनी बात कह चुके हैं। कोरोना की शुरुआत में आनंद महिंद्रा ने ट्विट के माध्यम से जानकारी देते हुए बताया था कि उनकी कंपनी किफायती वेंटिलेटर का निर्माण कर रही है। हाल ही में उन्होंने इस वेंटिलेटर का वीडियो भी ट्विटर पर साझा किया था।

देश में 31 मई तक लागू है लॉकडाउन

देश में इस समय लॉकडाउन का चौथा चरण चल रहा है जो 31 मई तक लागू रहेगा। हालांकि, चौथे चरण के लॉकडाउन में कई प्रकार की छूट दी गई हैं। इसमें रेल और हवाई सेवाओं को शुरू करना भी शामिल हैं। लोगों का मानना है कि लॉकडाउन को खत्म करना चाहिए ताकि अर्थव्यवस्था को गति मिल सके। आनंद महिंद्रा भी लॉकडाउन को खत्म करने का समर्थन कर रहे हैं।