लाइट बाइट फूड्स किचन क्लाउड सेगमेंट में करेगी एंट्री, देश के टॉप-5 शहरों में खोलेगी 36 किचन रेस्तरां, दिल्ली से होगी शुरूआत

  • इसके लिए F&B ग्रुप ने 25 करोड़ रुपए का निवेश करने की योजना बनाई है
  • कंपनी को अगले तीन सालों में 100 करोड़ के टर्नओवर की उम्मीद है

दैनिक भास्कर

Jun 26, 2020, 04:48 PM IST

नई दिल्ली. एफ एंड बी रिटेल ग्रुप की बड़ी कंपनी लाइट बाइट फूड्स क्लाउड किचन (Cloud kitchen) के कारोबार में एंट्री कर रही है। कंपनी देश के पांच बड़े शहरों दिल्ली, मुंबई, पुणे, बेंगलुरू और हैदराबाद में 36 क्लाउड किचन शुरू करने की योजना बना रही है। इसके लिए F&B ग्रुप ने 25 करोड़ रुपए का निवेश करने की योजना बनाई है। कंपनी को अगले तीन सालों में 100 करोड़ के टर्नओवर की उम्मीद है। इसकी शुरूआत दिल्ली से हो सकती है। जुलाई माह के अंत तक दिल्ली में पहला किचन खुलने की उम्मीद है।

एफएमसीजी कंपनी डाबर के वाइस चेयरमैन अमित बर्मन और रोहित अग्रवाल इस कंपनी के प्रमोटर हैं। इसके पोर्टफोलियो में एक दर्जन से ज्यादा ब्रांड हैं। इसके तहत यह कंपनी करीब 150 रेस्तरां चलाती है। वर्तमान में कंपनी के मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरु, पुणे, जम्मू और गोवा में एयरपोर्ट पर 58 से ज्यादा आउटलेट हैं। 

कंपनी नए मॉडल के साथ मार्केट में उतरेगी

कोरोनावायरस महामारी के चलते लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन कर रहे हैं। अधिकतर लोग अब रेस्तरां में जाकर खाना खाने से बच रहे हैं और ऐसा लंबे समय तक चलने का अंदेशा है। ऐसे में कंपनी का फोकस क्वालिटी बेस्ड होम डिलीवरी फूड पर है। कंपनी का मानना है कि एफएंडबी कंज्यूमर के बीच ट्रस्टेबल ब्रैंड है। ऐसे में क्लाउड किचन का कारोबार मार्केट के लिए अवसर का निर्माण करेगा। कंपनी नए मॉडल के साथ मार्केट में उतरेगी।

बिरयानी, रोल, पराठे और बाॅल मील्स सेगमेंट पर फोकस

कंपनी ने कहा कि जुलाई के अंत तक दिल्ली में पहला रेस्टोरेंट खोलने की योजना है। कंपनी के बयान के मुताबिक, हर किचन में लाइट बाइट ब्रैंड होगा और इसमें उन सभी सेगमेंट को शामिल किया जाएगा जो पॉपुलर हैं। इसमें मुख्य रूप से बिरयानी, रोल्स और पराठा तथा बॉल्स में मील होगा और इसमें फाइन डाइनिंग का भी ऑप्शन होगा। अग्रवाल ने यह देखा है कि ग्राहक होम डिलीवरी का ऑर्डर बहुत अलग तरह से करते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि वे ब्रैंड के नाम को नहीं जानते हैं।   

ब्रैंड ने शुरू किया है फूगो ऐप 

इस ब्रैंड ने खुद के ऐप को शुरू किया है जिसका नाम फूगो (Foogo) है। इस ऐप से ग्राहक जिस ब्रैंड का खाना खाना चाहेंगे, उस ब्रैंड  का रेस्टोरेंट से ऑर्डर कर सकेंगे। इसी के साथ कंपनी ऑर्गेनिक फूड ब्रैंड और साथ ही बेहतर देशी कुशल कारीगरों की सेवा देने की योजना बना रही है। 

क्लाउड किचन का कारोबार क्या है…

क्लाउड किचन का कॉन्सेप्ट पिछले कुछ सालों में दुनियाभर में लोकप्रिय हो रहा है। इसका मतलब ऐसी फैसिलिटी से है जहां खाना बनता और पैक होता है। वहां बैठकर खाने की सुविधा नहीं होती। आप ऑनलाइन या फोन के जरिए इन क्लाउड किचन से खाना ऑर्डर करते हैं। भारतीय स्टार्टअप फ्रेशमेनु इसी कॉन्सेप्ट पर ऑपरेट करता है। फूड डिलीवरी बिजनेस में मौजूद जोमैटो और स्विगी जैसी कंपनियां भी क्लाउड किचन योजना पर काम कर रही हैं। ये कंपनियां शहर में मौजूद रेस्तरां से पार्टनरशिप कर रही हैं। यानी खाना इन कंपनियों के क्लाउड किचन में बनेगा, लेकिन इसे बनाएंगे अलग-अलग रेस्तरां के शेफ। इससे किसी रेस्टोरेंट की पहुंच उन इलाकों तक भी हो सकेगी, जहां वह अभी मौजूद नहीं है। फ्यूचर ग्रुप कौन सा मॉडल अपनाता है यह देखने वाली बात होगी।