रिलायंस इंस्ट्रीज के राइट्स इश्यू का शेयर 690 रुपए पर एनएसई पर हुआ लिस्ट, 710 रुपए के स्तर को टच किया

  • 2.5 रुपए के फेसवैल्यू वाला राइट्स इश्यू 710 रुपए तक गया
  • एनएसई पर नीचे की ओर यह 671 रुपए का स्तर छुआ

दैनिक भास्कर

Jun 15, 2020, 11:23 AM IST

मुंबई. रिलायंस इंडस्ट्रीज का राइट्स इश्यू का शेयर सोमवार को एनएसई पर 690 रुपए पर लिस्ट हुआ। लिस्टिंग के बाद यह शेयर हालांकि 710 रुपए तक गया। विश्लेषकों को उम्मीद थी कि यह 720 रुपए तक लिस्ट होगा। 2.5 रुपए के फेस वैल्यू वाला यह शेयर 671 रुपए का निचला स्तर भी छुआ था। यह 73.80 प्रतिशत के प्रीमियम पर लिस्ट हुआ है। राइट्स इश्यू का भाव 1,257 रुपए तय किया गया था।

उधर दूसरी ओर रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर एनएसई पर मामूली बढ़त के साथ 1,593 रुपए पर ट्रेड कर कर रहा था। राइट्स इश्यू के शेयर को एक्सचेंज में रिलायंसपीपी नाम दिया गया है। यह चूंकि आंशिक रूप से भुगतान वाला शेयर है, इसलिए पीपी (Partly paid) नाम दिया गया है। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के दीपक जसानी ने कहा कि एक निवेशक के रूप में यह शेयर काफी फायदेमंद वाला रहा है। 53,125 करोड़ रुपए वाले राइट्स इश्यू को 1.59 गुना सब्सक्रिप्शन मिला था।

राइट्स इश्यू में निवेशकों को चार बार में देना है पैसा

जानकारी के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज और राइट्स इश्यू की कीमत में 228 रुपए या 23 प्रतिशत का अंतर है। इसलिए विश्लेषकों को उम्मीद थी कि यह शेयर 650 रुपए पर लिस्ट होगा। पहले चरण में राइट्स इश्यू का 314.50 रुपए तथा 288 रुपए के अंतर को जोड़ दें तो यह 603 रुपए होता है। राइट्स इश्यू में निवेशकों को चार बार में पैसा देना था। इसमें 314.50 रुपए मई 2021 में और 629 रुपए नवंबर 2021 में देना है। जबकि 314.50 रुपए का पेमेंट पहले ही राइट्स इश्यू जब खुला था, तभी देना था। 

24 महीने में 200 अरब डॉलर हो सकता है वैल्यूएशन

अब इसे ऐसे समझ सकते हैं। 943.50 रुपए पर 10 प्रतिशत का ब्याज लगेगा। यह फंड की लागत होगी। इसमें 314.50 रुपए मई 2021 में देना होगा और 629 रुपए नवंबर 2021 में देना होगा। यह 126 रुपए होगा। रिलायंस जियो प्लेटफॉर्म आरआईएल के हाई वैल्यूएशन के लिए काम कर रहा है। यह अगले 24 महीनों में 200 बिलियन डॉलर वैल्यूएशन पर लाने का लक्ष्य है। अभी इसका वैल्यूएशन 68 अरब डॉलर है। इसमें 5 या 6 व्यापार प्लेटफार्मों को शामिल करने की संभावना है। इसमें रिटेल, मीडिया मनोरंजन, शिक्षा, हेल्थ केयर, गेमिंग और पेमेंट शामिल हैं।

आरआईएल स्टॉक दे सकता है 25-30 प्रतिशत का रिटर्न

तेल से रासायनिक कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज सऊदी अरामको को हिस्सेदारी बेचकर चालू वित्त वर्ष की दूसरी या तीसरी तिमाही में 15 अरब डॉलर प्राप्त कर सकती है। इसी तरह रिलायंस रिटेल को जियोमार्ट बनाने के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स के तहत इंटीग्रेट किया जा रहा है। विश्लेषकों का कहना है कि इन संभावनाओं को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि जियो प्लेटफॉर्म्स और रिटेल का कारोबार अगले 2-3 वर्षों में तेल कारोबार से मिल रहे मौजूदा मुनाफे की बराबरी कर सकता है। या यह आगे भी जा सकता है। ऐसे में आरआईएल स्टॉक अगले 3-5 वर्षों में 25-30 प्रतिशत सीएजीआर की तुलना में आगे बढ़ेगा।

राइट्स इश्यू का शेयर आगे भी दे सकता है रिटर्न

रिलायंस राइट्स का शेयर एक आकर्षक निवेश बना हुआ है। लिस्टेड प्राइस पर इसने पहले ही दिन 73 प्रतिशत से ज्यादा का रिटर्न दिया है । यह अगले 9 से 12 महीनों में 1000 रुपए तक जा सकता है। जबकि इसी अवधि में आरआईएल का शेयर 2,000 रुपए तक जा सकता है।