यस बैंक ने लॉन्च किया डिजिटल वॉलेट युवा-पे, बिजली-पानी बिल के भुगतान समेत रिचार्ज कर सकेंगे डीटीएच

  • फीचर फोन और स्मार्टफोन दोनों पर काम करेगा नया डिजिटल वॉलेट
  • एड्रॉयड यूजर प्ले स्टोर से डाउनलोड़ कर सकते हैं पेमेंट ऐप

दैनिक भास्कर

Jun 25, 2020, 03:37 PM IST

नई दिल्ली. निजी क्षेत्र के प्रमुख बैंक यस बैंक ने गुरुवार को कॉन्टैक्टलेस भुगतान को बढ़ावा देने के लिए एक नया डिजिटल वॉलेट लॉन्च करने की घोषणा की। बैंक ने इस डिजिटल वॉलेट को ‘युवा-पे’ नाम दिया है। बैंक ने यह डिजिटल वॉलेट UDMA टेक्नोलॉजी के साथ भागीदारी में लॉन्च किया है।

कई तरह के भुगतान हो सकेंगे

बैंक की ओर से जारी बयान के मुताबिक, इस ऐप के जरिए नगर निगम बिल, हाउस टैक्स, वाटर टैक्स, बिजली बिल, एलपीजी बुकिंग, डीटीएच रिचार्ज, मोबाइल फोन बिल, लाइसेंस फीस, सोलर पार्क फी, बिल्डिंग सेंक्शन फीस आदि का भुगतान किया जा सकता है। यह नया ऐप भारत बिल पे और यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के जरिए भुगतान करता है। बैंक का कहना है कि इस ऐप के जरिए इंश्योरेंस रिन्युअल, फास्टैग रिचार्ज, ईएमआई और स्कूल फीस का भी भुगतान किया जा सकता है। 

पहले चरण में 238 गांवों में मिलेगी सुविधा

बयान के मुताबिक, यह ऐप चरणबद्ध तरीके से पूरे देश में सुविधा उपलब्ध कराएगा। पहले चरण में 238 गांवों की 158 ग्राम पंचायतों के लोग इस ऐप के जरिए भुगतान कर सकेंगे। दूसरे चरण में 29 हजार गावों की 6200 ग्राम पंचायतों में यह ऐप सुविधा उपलब्ध कराएगा। इससे करीब 1.2 करोड़ लोग लाभान्वित होंगे। मिनिमम केवाईसी के साथ इस ऐप का इस्तेमाल किया जा सकता है।

फीचर और स्मार्टफोन यूजर कर सकेंगे इस्तेमाल

यस बैंक के इस डिजिटल वॉलेट का इस्तेमाल फीचर और स्मार्टफोन दोनों तरह के यूजर कर सकेंगे। स्मार्टफोन यूजर एंड्रॉयड प्ले स्टोर से युवा-पे ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं। मिनिमम केवाईसी के साथ इस वॉलेट का इस्तेमाल किया जा सकता है। फीचर फोन यूजर्स को पहले नजदीकी युवा मित्र के जरिए केवाईसी करानी होगी। इसके बाद यह यूजर इंटरेक्टिव वॉइस रेस्पॉन्स सिस्टम (आईवीआरएस) सेवा के जरिए ट्रांजेक्शन कर सकेंगे।

यूपीआई ट्रांजेक्शन में गूगल-पे का दबदबा

देश में यूपीआई ट्रांजेक्शन सेगमेंट में गूगल-पे का दबदबा है। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के मुताबिक, मई में देश में करीब 1.2 बिलियन ट्रांजेक्शन यूपीआई के जरिए हुए हैं। इसमें से 500 मिलियन ट्रांजेक्शन केवल गूगल-पे के जरिए हुए हैं।