मैदान पर उतरे दुनिया के नंबर-1 पैरा जैवलिन थ्रोअर सुंदर, क्रिकेट की ट्रेनिंग 1-2 दिन में

  • करीब दो महीने लॉकडाउन में रहने के बाद स्टेडियम और स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में दिखे खिलाड़ी
  • बेंगलुरु में हॉकी टीमों को ट्रेनिंग के लिए साई और राज्य सरकार के निर्देशों का इंतजार

दैनिक भास्कर

May 20, 2020, 07:26 AM IST

करीब दो महीने तक लॉकडाउन में रहने के बाद खेल की भी मैदान पर वापसी हो गई। सबसे पहले राजस्थान में खिलाड़ी मैदान पर आना शुरू हो गए हैं। दुनिया के नंबर-1 पैरा जैवलिन थ्रोअर और वर्ल्ड चैम्पियन सुंदर सिंह गुर्जर जयपुर के एसएमएस स्टेडियम में टायर थ्रो कर प्रैक्टिस करते हुए दिखे। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और बिहार की राज्य सरकार ने अपने-अपने राज्य में स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम खोलने की अनुमति नहीं दी है।

हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह ने राज्य के स्टेडियम और कॉम्प्लेक्स खोलने की मंजूरी दे दी है। यहां ऑफिशियल, कोच और खिलाड़ियों को मास्क पहनना अनिवार्य है।

दिल्ली में प्रपोजल बन रहा

झारखंड में 31 मई के बाद सीमित खिलाड़ियों के लिए साई सेंटर के मैदान खुल सकते हैं। पटियाला में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पोर्ट्स (एनआईएस) और बेंगलुरू में ट्रेनिंग के लिए एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एएफआई) ने स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) रिलीज कर दिया है, जबकि दिल्ली में खिलाड़ियों की प्रैक्टिस शुरू करने के लिए प्रपोजल बन रहा है।

हॉकी टीम को थोड़ा इंतजार करना होगा

इस बीच, ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुकी भारतीय हॉकी टीमों को थोड़े दिन और इंतजार करना पड़ेगा। दोनों टीमें साई के बेंगलुरू सेंटर में हैं। हॉकी इंडिया टीमों की फील्ड ट्रेनिंग और कैंप शुरू करने के लिए साई और संबंधित राज्य सरकारों के निर्देश का इंतजार कर रहा है।

जयपुर में क्रिकेट एकेडमी सैनिटाइज की जा रही
जयपुरिया क्रिकेट एकेडमी में सैनिटाइजिंग शुरू कर दी गई है। एक-दो दिन में नेशनल लेवल के कुछ खिलाड़ियों को प्रैक्टिस के लिए बुलाया जाएगा। एकेडमी में घास कटिंग का काम भी चल रहा है। लॉकडाउन के दौरान भी ग्राउंड को मेंटेन रखा गया था।

एथलीट ट्रेनिंग से सिर्फ पांच मिनट पहले कमरे से बाहर निकल सकेंगे: एएफआई

  • एएफआई ने एसओपी को रिवाइज करके रिलीज किया है। ये सभी नियम पटियाला और बेंगलुरू में ट्रेनिंग करने वाले ट्रैक एंड फील्ड एथलीट्स पर लागू होंगे।
  • इक्विपमेंट सैनिटाइज करने के बाद प्रयोग करेंगे। खिलाड़ी कैंप से बाहर नहीं जा सकते। बाहरी लोगों से नहीं मिलेंगे।
  • एथलीट सॉना और आइस बाथ नहीं ले सकेंगे। एक दूसरे से गले भी नहीं मिल पाएंगे। बर्थडे पार्टी नहीं कर सकते। नाई के पास या ब्यूटी पार्लर नहीं जा सकते।
  • एथलीट ट्रेनिंग शेड्यूल से सिर्फ पांच मिनट पहले ही कमरे को छोड़ेंगे। ट्रेनिंग के बाद कहीं नहीं रुकेंगे।
  • ग्रुप में घूमने और ग्रुप ट्रेनिंग करने को भी मना किया गया है। ग्लव्स इस्तेमाल करने को कहा गया है।
  • कोविड-19 के लक्षण दिखने पर ट्रेनिंग के लिए न जाएं। एएफआई प्रेसिडेंट और चेयरमैन की अनुमति के बाद ही कैंप से छुट्टी मिल सकती है।
  • कैंप में दोबारा शामिल होने से पहले 14 दिन क्वारेंटाइन किया जाएगा। आरोग्य सेतु एप इस्तेमाल करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *