भारत में TikTok के बुरे दिन शुरू! रेटिंग कम होने के बाद मार्च के मुकाबले मई में आधे से भी कम लोगों ने किया ऐप को डाउनलोड

  • भारत में टिकटॉक के डाउनलोड का आंकड़ा 100 मिलियन से ज़्यादा है, हर माह 20 मिलियन भारतीय इस्तेमाल करते हैं
  • टिकटॉक को भारतीय ऐप Mitro देगी टक्कर, एक महीने में 50 लाख बार किया गया डाउनलोड

दैनिक भास्कर

May 26, 2020, 03:35 PM IST

नई दिल्ली. देश में एक तरफ लॉकडाउन है तो दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर टिकटॉकर्स और यूट्यूबर्स के बीच बवाल मचा हुआ है। इस बीच, भारत में चीन के लोकप्रिय वीडियो शेयरिंग ऐप टिकटाॅक की टीआरपी में तेजी से गिरावट दर्ज की जा रही है। जहां एक तरफ प्लेस्टोर पर टिकटॉक की रेटिंग गिरकर 4.4 से 1.2 पर पहुंच गई है, वहीं, अब डाउनलोड में भी भारी गिरावट देखी गई है। मई में टिकटाॅक ऐप को मात्र 17 मिलियन (1.7 करोड़) यूजर्स ने ही डाउनलोड किया है, जबकि लाॅकडाउन के शुरुआत माह में यह ऐप भारत में चीन से भी ज्यादा डाउनलोड किए गए हैं।

मार्च में टिकटाॅक को 3.57 करोड़ लोगों ने किया था डाउनलोड

सेंसर टावर डेटा की रिपोर्ट के मुताबिक, मार्च में टिकटाॅक पर सबसे ज्यादा नए यूजर्स जुड़े हैं। मार्च में करीब 36.7 मिलियन (3.57 करोड़) लोगों ने इस ऐप को डाउनलोड किया है। जबकि अप्रैल में यूजर्स की संख्या 23.5 मिलियन पर रहीं। वहीं, मई में इस ऐप को डाउनलोड करने वाले यूजर्स की संख्या आधे से भी कम हो गई है। 23 मई तक सिर्फ 1.7 करोड़ यूजर्स द्वारा डाउनलोड किया गया है।

ये रहा टिकटाॅक ऐप की डाउनलोड में गिरावट का ग्राफ

महीना न्यू यूजर्स (मिलियन) ग्रोथ/गिरावट (%)
जनवरी 30.8 मासिक आधार पर
फरवरी 33.1 7
मार्च 35.7 8
अप्रैल 23.5 -34
मई (23 तारीख तक) 17 -28

स्त्रोत- सेंसर टाॅवर

विज्ञापन इंडस्ट्री भी बना रही दूरी

कुछ मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पिछले कुछ माह से कोविड-19 महामारी के कारण विज्ञापन इंडस्ट्री ने टिकटाॅक, फेसबुक समेत सोशल मीडिया प्लेटफार्म से बजट में कटौती की है। इससे पहले तक टिकटाॅक पर फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टाग्राम समेत अन्य डिजिटल प्लेटफार्म के मुकाबले ज्यादा ऐड मिलते थे। हालांकि कुछ विशेषज्ञों ने इसे अस्थायी घटना कहा है। सोशल विशेषज्ञ कारगिक श्रीनिवासन ने इसे कूछ समय का ट्रेंड बताया है। उन्होंने कहा है कि टिकटाॅक पर जल्द ही कई अभियान आने वाले हैं। वहीं दूसरी ओर वे यह मानते हैं कि मौजूदा वक्त में ब्रान्ड टिकटाॅक पर भारी निवेश करने से कतरा रहे हैं। बता दें कि टिकटाॅक मार्केटिंग और ब्रांड्स के लिए एक विशाल मंच रहा है।

विवादों में क्यों घिरा है टिकटाॅक ?

टिकटाॅक शुरू से ही अपने काॅन्टेंट की वजह से विवादों में रहा है। अब हाल ही में मशहूर टिकटाॅक स्टार फैजल सिद्दीकी ने इस प्लेटफॉर्म पर एक वीडियो पोस्ट किया था। इस वीडियो में फैजल एक ऐसे लड़के की एक्टिंग करते नजर आएं जिसे प्यार में धोखा मिला है। जहां लड़की कहती है कि उसने उसे दूसरे लड़के के लिए छोड़ दिया। इसके बाद फैजल उस लड़की पर कुछ फेंकते हैं जिसे एसिड समझा जा रहा है। अगले ही सीन में मेकअप के साथ एक लड़की दिखती है जिसे देखने से लगता है कि एसिड की वजह से उसका चेहरा खराब हो गया है। एसिड अटैक को बढ़ावा देने के आरोप में इस वीडियो पर काफी बबाल हुआ है। लोगों ने टिकटाॅक को बैन करने की मांग की है। हालांकि बाद में इस वीडियो को डिलीट कर दिया गया। वहीं दूसरी तरफ इस विवाद से कुछ दिन पहले ही सि्ददकी के भाई आमिर सिद्दीक ने टिकटॉक वीडियो बनाया था जिसमें उन्होंने राय दी कि टिकटॉक यूट्यूब से बेहतर क्यों है। इसके बाद यूट्यूबर कैरी मिनाटी ने उन्हें रोस्ट किया था। इस दो मामले के बाद से ही टिकटाॅक की रेटिंग में लगातार गिरावट देखी जा रही है।

चीनी ऐप को टक्कर देगा भारतीय ऐप ‘Mitro’

यूट्यूब और टिकटाॅक के जंग में इंडियन शार्ट वीडियो शेयरिंग ऐप Mitron को काफी फायदा हुआ है। इस ऐप को लॉन्चिंग के एक माह में अब तक 50 लाख से ज्यादा डाउनलोड मिल गए हैं। ऐप रिलीज के एक माह में Google Play Store पर Mitron ऐप दूसरा सबसे ज्यादा डाउनलोड किया जाने वाला ऐप बन गया है। कोविड-19 महामारी के बीच Mitron ऐप की डिमांड में काफी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। आईआईटी रुड़की के छात्र ने मित्रों ऐप को विकसित किया है। यह बिल्कुल चीनी ऐप TikTok की तरह है। यह यूजर्स को आसान इंटरफेस मुहैया कराता है, जहां यूजर्स वीडियो को एडिट, शेयर और क्रिएट कर सकते हैं। साथ ही यूजर्स प्लेटफॉर्म पर मौजूद शार्ट वीडियों को आसानी से ऊपर नीचे स्वाइप करके देख सकते हैं।

जानिए क्या है टिकटॉक ?

टिकटॉक एक सोशल मीडिया ऐप है जिसके जरिए स्मार्टफ़ोन यूज़र छोटे-छोटे वीडियो (15 सेकेंड तक के) बना और शेयर कर सकते हैं। यह एक चाइनीज सोशल मीडिया ऐप है और चीन के बाहर भी इसका काफी क्रेज है। साल 2019 में दुनियाभर में वॉट्सऐप के बाद सबसे ज्यादा टिकटॉक को ही डाउनलोड किया गया। इसके इंटरनेशनल वर्जन को 1 बिलियन से भी ज्यादा लोग डाउनलोड कर चुके हैं। अगर सिर्फ भारत की ही बात करें तो टिकटॉक के डाउनलोड का आंकड़ा 100 मिलियन के ज़्यादा है। एक रिपोर्ट के अनुसार इसे हर महीने लगभग 20 मिलियन भारतीय इस्तेमाल करते हैं। ग्लोबल वेब इंडेक्स के अनुसार, इस पर 41 प्रतिशत यूजर 16 से 24 साल के बीच के हैं। कई लोगों के काफी फॉलोअर्स हैं, जो टिकटॉक के माध्यम से काफी पैसे भी कमाते हैं।