भारत के शूटर जुलाई से रेंज पर वापसी कर सकते हैं, बोतल में बालू भरकर घर में ट्रेनिंग कर रहे भारतीय फुटबॉलर

  • इटली के बाद अब स्पेन ने फुटबॉल लीग ‘ला लिगा’ शुरू होने की उम्मीद जगाई
  • नेशनल राइफल एसोसिएशन भी भारतीय खिलाड़ियों की वापसी की तैयारी कर रहा

दैनिक भास्कर

Apr 30, 2020, 08:13 AM IST

कोरोनावायरस के खतरे के बीच खेल के लिए कुछ उम्मीद की खबरें आई हैं। नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एनआरएआई) जुलाई में नेशनल शूटर्स का कैंप कराने पर विचार कर रही है। दिल्ली के डॉ कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में कैंप का आयोजन किया जा सकता है। कोरोनावायरस की वजह से आईएसएसएफ वर्ल्ड कप को रद्द करना पड़ा था। वहीं, लंदन ओलिंपिक के पब्लिक हेल्थ डायरेक्टर ब्रान मैक्लोस्की ने कहा कि कोरोनावायरस का प्रभाव कम होने के बाद लोकल स्तर के मैचों का आयोजन करना आसान होगा। उनके अनुसार बड़े स्तर के मैच में काफी ट्रैवल करना पड़ा है। इनके आयोजन में चुनौतियां आ सकती हैं।

लॉकडाउन के कारण जिम बंद होने से खिलाड़ी फिटनेस ट्रेनिंग नहीं कर पा रहे थे। इसके लिए आई-लीग की टीम आइजॉल एफसी के खिलाड़ियों ने घर की चीजों से जिम इंस्ट्रूमेंट बना लिए। खिलाड़ी घर में बनी डंबल्स से ट्रेनिंग कर फिटनेस मेंटेन कर रहे हैं। महामारी के कारण देश की घरेलू फुटबॉल लीग (आई-लीग) का सीजन 10 दिन पहले खत्म कर दिया गया था। टॉप पर चल रहे मोहन बागान को विजेता घोषित कर दिया था। लीग 14 मार्च से स्थगित थी।

स्पेन के फुटबॉलर 4 मई से ट्रेनिंग कर सकते हैं

वहीं, स्पेन की सरकार ने घोषणा की है कि प्रोफेशनल खिलाड़ी 4 मई से ट्रेनिंग शुरू कर सकते हैं। इससे पहले, मंगलवार को इटली की सरकार ने भी घरेलू फुटबॉल लीग सीरी ए के खिलाड़ियों को 4 मई से ट्रेनिंग की मंजूरी दी थी। ऐसे में फैंस को खेल के शुरू होने की भी उम्मीद है। पीएसजी चैंपियंस लीग के घरेलू मैच बाहर खेल सकती है। क्लब के अध्यक्ष नासिर अल-खेलैफी ने कहा कि फ्रांस सरकार नए नियम लाती है तो मैचों का आयोजन देश से बाहर करना होगा।

ला लिगा में 12 मार्च से कोई मुकाबला नहीं
कोरोनावायरस की वजह से स्पेन की घरेलू फुटबॉल लीग ला लिगा में 12 मार्च से कोई मुकाबला नहीं हुआ है। प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज ने कहा कि यह फैसला लॉकडाउन समाप्त करने की शुरुआत है। अभी खिलाड़ियों को सिर्फ निजी ट्रेनिंग करने की अनुमति होगी। आने वाले समय में टीम के साथ ट्रेनिंग करने की अनुमति मिलेगी। ट्रेनिंग पर लौटने से पहले खिलाड़ियों को स्क्रीनिंग टेस्ट से गुजरना पड़ सकता है। खिलाड़ियों को किट, मास्क, ग्लव्स में आना होगा। एक समय में 6 खिलाड़ियों को ही मैदान पर रहने की अनुमति होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *