भारतीय तैराक वीरधवल बोले- अगर ट्रेनिंग के लिए स्वीमिंग पूल नहीं खुले तो संन्यास के बारे में सोचना पड़ेगा

  • वीरधवल खाड़े ने कहा- लॉकडाउन से टोक्यो ओलिंपिक की तैयारियां प्रभावित हुई हैं, ऐसे में ट्रेनिंग शुरू करने में देरी से और नुकसान होगा
  • उन्होंने कहा- जब दूसरे एथलीट्स सोशल डिस्टेंसिंग के साथ स्वीमिंग शुरू कर सकते हैं तो फिर तैराक ऐसा क्यों नहीं कर सकते हैं

दैनिक भास्कर

Jun 15, 2020, 08:20 AM IST

एशियन गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले तैराक वीरधवल खाड़े स्वीमिंग पूल नहीं खुलने से नाराज हैं। उन्होंने रविवार को ट्वीट किया अगर अब ट्रेनिंग के लिए पूल नहीं खुले तो संन्यास के बारे में सोचना पड़ेगा।उन्होंने खेल मंत्रालय, खेल मंत्री और स्वीमिंग फेडरेशन को भी टैग किया। 

उन्होंने लिखा कि ट्रेनिंग शुरू करने को लेकर न तो खेल मंत्रालय और न ही स्वीमिंग फेडरेशन की तरफ से कोई जानकारी मिल रही है। काश, देश में स्वीमिंग को भी दूसरे खेलों की तरह ही माना जाता।

टोक्यो ओलिंपिक की तैयारियों पर असर पड़ा: खाड़े 

खाड़े ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से पहले ही टोक्यो ओलिंपिक की तैयारियां प्रभावित हुई हैं। ऐसे में ट्रेनिंग शुरू करने में अगर और देरी हुई तो इससे भारतीय तैराकों को नुकसान उठाना पड़ सकता है। 

‘जब दूसरे खिलाड़ी ट्रेनिंग कर सकते हैं तो तैराक क्यों नहीं’

उन्होंने आगे लिखा, ‘‘गृह मंत्रालय ने बिना दर्शकों के स्टेडियम खोलने की इजाजत दे दी है। इसके बाद ओलिंपिक स्पोर्ट्स से जुड़े कई खिलाड़ियों ने दोबारा ट्रेनिंग शुरू भी कर दी। लेकिन तीन महीने गुजर जाने के बाद भी भारतीय तैराक स्वीमिंग पूल में नहीं उतर पाए हैं। अगर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दूसरे एथलीट्स ट्रेनिंग शुरू कर सकते हैं तो फिर तैराक ऐसा क्यों नहीं कर सकते।’’

उम्मीद करता हूं कि मेरी तरह कोई और तैराक इस वजह से संन्यास के बारे में नहीं सोचने लगे। स्वीमिंग कोच निहार अमीन ने भी खेल मंत्रालय से इस मामले में दखल देने की अपील की है ताकि तैराक दोबारा ट्रेनिंग शुरू कर सकें। 

स्वीमिंग फेडरेशन बोला- खेल मंत्रालय ने अब तक जवाब नहीं दिया 

स्वीमिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) ने भी इस मामले पर खेल मंत्रालय से बात की है। एसएफआई ने खेल मंत्रालय से कहा है कि वह गृह मंत्रालय से स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के भीतर स्विमिंग पूल दोबारा खोलने के लिए मंजूरी ले ताकि ओलिंपिक कोटा हासिल करने वाले तैराक ट्रेनिंग शुरू कर सकें।

खाड़े समेत 6 तैराकों ने टोक्यो गेम्स के लिए क्वालिफिकेशन मार्क हासिल किया

पिछले महीने एसएफआई ने टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफिकेशन मार्क हासिल करने वाले तैराकों को लेकर खेल मंत्रालय, भारतीय ओलिंपिक संघ से बात की थी। एसएफआई के सेकेट्री जनरल मोनल चौकसी ने कहा कि अब तक खेल मंत्रालय की तरफ से कोई जवाब नहीं आया।

उन्होंने कहा कि फेडरेशन ने गृह मंत्रालय से भी गुजारिश की लेकिन उसका भी नतीजा नहीं मिला। खाड़े के अलावा 6 तैराक टोक्यो गेम्स के लिए बी-क्वालिफिकेशन मार्क हासिल कर चुके हैं। इसमें सजन प्रकाश औऱ श्रीहरि नटराज भी शामिल हैं। इनको ए स्टैंडर्ड हासिल करने की उम्मीद है।  

चौकसी ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि गृह मंत्रालय में फैसले लेने वाले लोगों को मॉल और रेस्टोरेंट खोलना सुरक्षित लगता है जबकि सुरक्षित माहौल में टॉप एथलीट्स को ट्रेनिंग की मंजूरी देने असुरक्षित। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *