बैंक आफ बड़ौदा ने ग्राहकों को 30 जून तक केवाईसी कराने को कहा, नहीं करने पर अकाउंट हो सकता है फ्रीज

  • बैंंक की तरफ से भी ग्राहकों को मैसेज भेजा गया है
  • आरबीआई ने सभी बैंक खातों के लिए केवाईसी जरूरी कर दिया है

दैनिक भास्कर

Jun 10, 2020, 03:53 PM IST

नई दिल्ली. बैंक आफ बड़ौदा ने अपने ग्राहकों को 30 जून तक केवाईसी करने को कहा है। जो ग्राहक अपना केवाईसी नहीं करवाएंगे, उनका अकाउंट फ्रीज कर दिया जाएगा। अकाउंट फ्रीज होने का मतलब है कि आप अपने खाते से ट्रांजेक्शन नहीं कर सकेंगे। बैंंक की तरफ से भी ग्राहकों को मैसेज भेजा गया है।

क्या है मैसेज? 
उनसे कहा गया है कि अगले 20 दिनों के अंदर यानी 30 जून तक अपने खाते के लिए केवाईसी डॉक्युमेंट के साथ ही पैन नंबर, पैन नंबर नहीं होने पर फार्म 60 भर कर जमा करें। साथ ही खाता धारक को अपने जन्म तिथि की जानकारी देना भी जरूरी है।

आरबीआई ने जरूरी कर दिया है केवाईसी
आरबीआई ने सभी बैंक खातों के लिए केवाईसी जरूरी कर दिया है। साथ ही बैंकों को ग्राहकों को केवाईसी कराने के लिए सूचित कराने को कहा है। RBI के निर्देशों के अनुसार सभी बैंकों को 30 जून तक अपने ग्राहकों की केवाईसी करना है।

इन दस्तावेजों के जरिए करा सकते हैं केवाईसी 
RBI के दिशा निर्देशों के अनुसार, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, मनरेगा कार्ड, पेंशन भुगतान आदेश, डाकघरों द्वारा जारी पहचान पत्र, प्राधिकरण संस्थाओं की ओर से जारी पहचान पत्र के जरिए केवाईसी कराई जा सकती है।

क्या है KYC?
केवाईसी भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा संचालित एक पहचान प्रक्रिया है जिसकी मदद से बैंक और अन्य वित्तीय संस्थाएं अपने ग्राहक के बारे में अच्छे से जान पाती हैं। KYC यानि “नो योर कस्‍टमर” यानि अपने ग्राहक को जानिये। बैंक तथा वित्तीय कम्पनियां इसके लिए फॉर्म को भरवा कर इसके साथ कुछ पहचान के प्रमाण भी लेती हैं।