बुधवार से खुलनेवाले राइट्स इश्यू से पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों पर दबाव, 10 प्वाइंट में जानिए क्या है इश्यू

  • मंगलवार को कंपनी के शेयर गिरावट के साथ बंद हुए
  • एक महीने में 190 रुपए प्रति शेयर की रही गिरावट

दैनिक भास्कर

May 19, 2020, 05:33 PM IST

मुंबई. मार्केट कैपिटलाइजेशन के आधार पर देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) का राइट्स इश्यू बुधवार से खुल रहा है। हालांकि कंपनी के शेयरों में पहले से ही दबाव दिख रहा है। इस महीने में इसकी दूसरी कंपनी जियो में ढेर सारे निवेश आने से इसका शेयर 1,600 रुपए तक जा पहुंचा था। इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 10 लाख करोड़ रुपए को पार कर गया था। लेकिन इस समय इसका शेयर 1,408 रुपए पर है। आइए इसके राइट्स इश्यू को 10 प्वाइंट में जानते हैं।

आरआईएल का राइट्स इश्यू

यह अब तक का देश का सबसे बड़ा राइट्स इश्यू है। पिछले तीन दशक में रिलायंस इंडस्ट्रीज का यह पहला इश्यू है। कंपनी इसके लिए 42,26,26,894 इक्विटी शेयर जारी करेगी।

कंपनी की मौजूदगी

कंपनी मुख्य रूप से ऑयल, रिटेल, टेलीकॉम जैसे सेक्टर्स में मौजूद है। कंपनी की योजना 1.04 लाख करोड़ रुपए चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही तक जुटाने की है। इसमें पहले ही काफी राशि जुटाई जा चुकी है। प्रमुख रूप से इसमें जियो प्लेटफॉर्म में सिल्वर लेक, विस्टा, जनरल अटलांटिक और फेसबुक को 14.81 प्रतिशत हिस्सेदारी बेच दी है। इसमें फेसबुक डील सबसे बड़ा सौदा था। इसकी 9.99 प्रतिशत डील से कंपनी को 43,574 करोड़ रुपए मिले थे।

इश्यू की पूरी जानकारी
ये इश्यू बुधवार 20 मई से खुलेगा। जिसके पास आरआईएल के शेयर पहले से होंगे वही इसमें भाग ले सकता है। हर 15 शेयरों के आधार पर 1 शेयर मिलेगा। ये राइट्स इश्यू 1,257 रुपए के भाव पर आ रहा है। यह इश्यू 3 जून को बंद होगा। इसकी साइज 53,125 करोड़ रुपए की है।

राइट्स इश्यू क्यों

दरअसल कंपनी अगले साल 31 मार्च तक अपना पूरा कर्ज समाप्त करना चाहती है। कंपनी के ऊपर 3.60 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। हालांकि उसके पास कैश और कैश इक्विवलेंट को आधार मानें तो यह कर्ज एक लाख करोड़ रुपए से ज्यादा बैठता है। कंपनी ने चार हफ्तों में अपने जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी बेचकर 67,195 करोड़ रुपए जुटाया है।

राइट्स इश्यू में डिस्काउंट

कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन 8.92 लाख करोड़ रुपए है। कंपनी ने इस मेगा 13 मर्चेंट बैंकरों के जरिए इस इश्यू को पार लगाने की योजना कंपनी की है। हालांकि वर्तमान भाव 1,408 रुपए की तुलना में कंपनी के राइट्स इश्यू में 150 रुपए का करीब डिस्काउंट है। 

राइट्स इश्यू: कब-कब पेमेंट

शेयर खरीदते समय इसके लिए आपको 25 प्रतिशत भुगतान करना होगा। इसके बाद 25 प्रतिशत का भुगतान मई 2021 में करना होगा। बाकी का 50 प्रतिशत का भुगतान  नवंबर 2021 में करना होगा।

राइट्स इश्यू पर हेल्पलाइन

इस इश्यू की जानकारी वेबसाइट: https://rights.kfintech.com पर प्राप्त की जा सकती है। इसके साथ ही Entitlement letter यहां से डाउनलोड कर सकते हैं। यहां पर मोबाइल नंबर और ई-मेल अपडेट करना होगा। ऑफर लेटर भी यहां से डाउनलोड कर सकते हैं। निवेशक वेबसाइट पर पेमेंट भी कर सकते हैं। 

कंपनी में कितनी है मालिकों की हिस्सेदारी

इसमें प्रमोटर की 50.1 प्रतिशत हिस्सेदारी है। उनके बाद विदेशी संस्थागत निवेशकों की 24.1 प्रतिशत हिस्सेदारी है। म्युचुअल फंड की इसमें 5.42 प्रतिशत हिस्सेदारी है। वहीं बीमा कंपनियां इसमें 6.22 प्रतिशत हिस्सा रखती हैं। रिटेल, एचएनआई और अन्य निवेशक की इसमें 7.94 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

31 मार्च तक शेयर होल्डर्स

31 मार्च 2020 तक कंपनी के कुल 26.32 लाख शेयरहोल्डर्स रहे हैं। रिटेल और एचएनआई शेयरहोल्डर्स की संख्या 25.41 लाख है।

राइट्स इश्यू के बैंकर्स

इस राइट्स इश्यू में 13 बैंकर्स की नियुक्ति की गई है। इसमें प्रमुख रूप से जे एम फाइनेंशियल, कोटक, एक्सिस कैप, बीएनपी पारिबा, एचएसबीसी, आईडीएफसी सिक्योरिटीज, एचडीएफसी बैंक, सिटी, एसबीआई कैप, जेपी मोर्गन आदि हैं।