बीमार पत्नी का इलाज नहीं करवा पा रहे धनबाद में फंसे क्रिकेटर नदीम, 350 से ज्यादा गरीब परिवारों को खाना खिला रहे

  • गेंदबाज शाहबाज नदीम ने भारतीय टीम के लिए एकमात्र टेस्ट पिछले साल ही दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था
  • नदीम की पत्नी समन अख्तर 4-5 महीने से फैटी लीवर का इलाज करा रहीं, कुछ टेस्ट के लिए कोलकाता जाना है

दैनिक भास्कर

Apr 19, 2020, 10:10 AM IST

धनबाद. कोरोनावायरस के कारण विश्व की एक तिहाई से भी ज्यादा की आबादी अपने घरों में कैद रहने के लिए मजबूर हो गई है। भारत में भी 21 दिन के लॉकडाउन को 19 दिन और बढ़ा दिया है। अब यह 3 मई तक चलेगा। इसके चलते भारतीय गेंदबाज शाहबाज नदीम अपनी बीमार पत्नी समन अख्तर का इलाज नहीं करवा पा रहे हैं। लॉकडाउन के कारण वे अपनी ससुराल झारखड के धनबाद में ही फंस गए हैं। नदीम यहां 350 से ज्यादा गरीब परिवारों को मुफ्त खाना खिला रहे हैं।

समन अख्तर 4-5 महीने से फैटी लीवर का इलाज करा रही हैं। उनके कुछ टेस्ट के लिए कोलकाता जाना था। मुजफ्फरपुर के रहने वाले नदीम की ससुराल धनबाद के पास स्थित झरिया में है। यहां उनकी पत्नी को बेहतर मेडिकल सुविधा नहीं मिल पा रही है।

झारखंड-बंगाल बार्डर से नदीम को लौटाया
नदीम ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ‘‘पत्नी के एमआरआई समेत कुछ जरूरी टेस्ट होने हैं। यहां धनबाद में भी पता किया, लेकिन ऐसी सुविधा उपलब्ध नहीं हो सकी। बंगाल सरकार से भी मदद के लिए बात की, लेकिन निराशा ही हाथ लगी। हाल ही में धनबाद जिला प्रशासन से अनुमति के बाद कोलकाता रवाना हो गए थे, लेकिन झारखंड-पश्चिम बंगाल बार्डर पर उन्हें रोक लिया गया।’’ धनबाद क्रिकेट एसोसिएशन के पूर्व सचिव और नदीम के बचपन के कोच एसए रहमान ने बताया, ”उन्हें बंगाल में घुसने नहीं दिया गया। उन्होंने पुलिसवालों से कहा कि उनकी पत्नी की तबीयत ठीक नहीं है, लेकिन किसी ने भी उनकी बात पर भरोसा नहीं किया।”

नदीम ने एकमात्र टेस्ट में 4 विकेट लिए
झारखंड की ओर से खेलने वाले मुजफ्फरपुर के नदीम ने भारतीय टीम के लिए एकमात्र टेस्ट खेला है। वे टेस्ट में डेब्यू करने वाले सबसे उम्रदराज और 296वें भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। कप्तान विराट कोहली ने पिछले साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के तीसरे टेस्ट में नदीम को मौका दिया था। इस एक टेस्ट की दोनों पारियों में नदीम ने 104 रन देकर 4 विकेट लिए थे। नदीम ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट के 117 मैचों में 443 विकेट लिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *