बाजार में आया सबसे सस्ता हैंड सैनिटाइजर, कीमत मात्र 50 पैसे, आईटीसी सेवलाॅन ने सैशे पाउच में किया लाॅन्च

  • डब्ल्यूएचओ और यूनिसेफ जैसी संस्थाओं का मानना है कि वैश्विक स्तर पर 3 अरब लोगों के घर में हाथों को स्वच्छ रखने की सुविधाएं नहीं हैं
  • कोविड-19 महामारी के कारण पूरी दुनिया नया रूप ले चुकी है, ऐसे में हाथों की साफ-सफाई भी प्राथमिकता बन गई है

दैनिक भास्कर

May 18, 2020, 07:30 PM IST

नई दिल्ली. कोविड-19 महामारी के कारण पूरी दुनिया नया रूप ले चुकी है, ऐसे में हाथों की साफ-सफाई भी एक वैश्विक प्राथमिकता बनकर उभरी है। हाथों की स्वच्छता के प्रति जागरूकता और इसकी सख्त जरूरत अब एक अहम नियम बन गया है लेकिन सुविधाओं और संसाधनों के अभाव के कारण हाथों की स्वच्छता को अपनाना अक्सर चुनौती बना रहता है। डब्ल्यूएचओ और यूनिसेफ जैसी संस्थाओं का मानना है कि वैश्विक स्तर पर 3 अरब लोगों के घर में हाथों को स्वच्छ रखने की सुविधाएं नहीं हैं। यह स्थिति तब और विकट हो जाती है जब खास तौर से निम्न और मध्य आयवर्ग वाले लोगों को काम के लिए घर से बाहर निकलना पड़ता है। इसके मद्देनजर अब आईटीसी सेवलॉन ने मात्र 50 पैसे में अपना हैंड सैनिटाइजर बाजार में उतारा है।

कंपनी ने कहा साफ-सफाई हो गई है जरूरी
आईटीसी लिमिटेड में पर्सनल केयर प्रोडक्ट्स बिजनेस डिविजन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी समीर सत्पथी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए इन दिनों सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा व्यक्तिगत साफ-सफाई जैसे बचावकारी उपायों को अपनाना हर घर के लिए आवश्यक हो गया है। दुनिया के इस सबसे सस्ते हैंड सैनिटाइजर को सैशे पाउच में बाजार में उतारना बड़े पैमाने पर हाथों को स्वच्छ रखना सुनिश्चित करने का ही एक प्रयास है।

एक दिन के इस्तेमाल के लिहाज से बेहद सस्ता
एक बार इस्तेमाल करने के लिहाज से बना सेवलॉन सैनिटाइजर सैशे बेहद सस्ता भी है और घर से बाहर हाथों को सैनिटाइज रखने का सरल समाधान भी। इसे गिवोदन जैसी वैश्चिक कंपनियों की मदद से तैयार किया गया है। यह खासतौर पर गरीबों के लिए काफी उपयोगी होगी। दक्षिण एशिया में गिवादेन में फ्रैगरेंस डिविजन के क्षेत्रीय निदेशक अजीत पाल ने कहा ने कहा कि सेवलॉन विश्वसनीयता का नाम है। आईटीसी ने कई विशेषताएं बरकरार रखी है जो इसे विश्व में अपनी तरह का एक सर्वश्रेष्ठ ब्रांड बनाता है और सही मायने में यह सराहनीय भी है।