फ्लिपकार्ट पर 90 फीसदी सेलर लौटे; नए रजिस्ट्रेशन में 125% की तेजी, इसमें एमएसएमई की संख्या सबसे ज्यादा

  • अप्रैल-जून अवधि में ज्यादा एमएसएमई ने रजिस्ट्रेशन में रुचि दिखाई
  • वर्किंग कैपिटल की पूर्ति के लिए चलाया जा रहा विशेष लोन ऑफर

दैनिक भास्कर

Jun 27, 2020, 11:58 AM IST

नई दिल्ली. अनलॉक 1.0 के दौरान आर्थिक गतिविधियों में तेजी आती दिख रही है। इसका संकेत ऑनलाइन मार्केटप्लेस फ्लिपकार्ट ने दिया है। फ्लिपकार्ट ने शनिवार को कहा कि उसके करीब 90 फीसदी सेलर फिर से ऑपरेशन शुरू करने के लिए प्लेटफॉर्म पर लौट आए हैं।  

नए रजिस्ट्रेशन में 125 फीसदी की तेजी

फ्लिपकार्ट की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि उसके प्लेटफॉर्म पर नए सेलर रजिस्ट्रेशन में अप्रैल-जून अवधि में 125 फीसदी की तेजी आई है। इसमें बड़ी संख्या में एमएसएमई शामिल हैं। फ्लिपकार्ट के मुताबिक, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली और तमिलनाडु की एमएसएमई ने अपने कारोबार को ऑनलाइन करने में ज्यादा रुचि दिखाई है। यह एमएसएमई वूमन क्लोथिंग, पर्सनल केयर, फूड एंड न्यूट्रिशन, होम एमपावरमेंट टूल्स और बेबी केयर उत्पादों समेत कई कैटेगरी से जुड़े कार्य करती हैं। 

छोटे व्यापारियों को संचालन क्षमता बढ़ाने में मदद मिलेगी

फ्लिपकार्ट ने कहा है कि एमएसएमई को रजिस्ट्रेशन में शामिल होने से देश के कारीगरों और छोटे कारोबारियों को अपनी संचालन क्षमता बढ़ाने में मदद मिलेगी और वे बाजार में मजबूत बाजार पहुंच के साथ अपना काम कर सकेंगे। ई-कॉमर्स इन कारोबारियों को आजीविका के अवसर प्रदान करता है। 

फेसबुक चला रहा विशेष लोन कार्यक्रम

इस समय सेलर समुदाय की सबसे बड़ी आवश्यकता वर्किंग कैपिटल है। इस आवश्यकता की पूर्ति के लिए फेसबुक, फ्लिपकार्ट के सहयोग से लोन के लिए ग्रोथ कैपिटल प्रोग्राम नाम से विशेष ऑफर चला रहा है। यह कार्यक्रम ऑनलाइन ऑपरेट करने वाली एमएसएमई के लिए डिजाइन किया गया है। फ्लिपकार्ट के मुताबिक, लेनदेन करने वाले अधिकांश सेलर इस कार्यक्रम के जरिए किफायती दरों पर क्रेडिट ले सकते हैं। इस कार्यक्रम के तहत लोन की मंजूरी 1 दिन में मिल जाती है और 48 घंटे के भीतर राशि का भुगतान हो जाता है। 

सेलर्स को 3 महीने के मोराटोरियम की सुविधा दी

इस कार्यक्रम के तहत लॉकडाउन पहले से ही लोन लेने वाले सेलर्स को 3 महीने के मोराटोरियम की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इसके अलावा जिन सेलर्स ने लॉकडाउन अवधि में अतिरिक्त लोन लिया है उनको 6 महीने के मोराटोरियम की सुविधा दी गई है। कंपनी ने लॉकडाउन को देखते हुए सेलर्स के लिए अपनी प्रीमियम सेवाओं का विस्तार किया है, ताकि उनका निवेश बेकार ना जाए। फ्लिपकार्ट समर्थ कार्यक्रम के तहत कंपनी अब तक देश के 5 लाख से ज्यादा कारीगरों, बुनकरों और माइक्रो एंटरप्राइजेज को आजीविका कमाने में मदद कर चुकी है।