फीफा ने कहा- जॉर्ज फ्लॉयड की मौत से सहानुभूति, लेकिन फुटबॉलर खेल की मर्यादा का ध्यान रखें, मैच में विरोध न जताएं

  • अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी, जिसके बाद कई खिलाड़ियों ने खुलकर नस्लभेद का विरोध जताया
  • जर्मनी में दो खिलाड़ी जस्टिस फॉर फ्लॉयड लिखी टी-शर्ट पहनकर मैच खेले, लिवरपुल के खिलाड़ियों ने फ्लॉयड के सम्मान में घुटने टेके

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 02:57 PM IST

अमेरिका में अश्वेत की मौत के बाद कई फुटबॉल खिलाड़ियों ने मैदान के अंदर और बाहर विरोध जताया है। इस पर फेडरेशन इंटरनेशनल फुटबॉल एसोसिएशन (फीफा ) ने नाराजगी जताई है। फीफा ने आयोजकों से कहा है कि वे विवेक से काम लें और ग्राउंड पर खिलाड़ियों को विरोध जाहिर करने के लिए किसी भी प्रकार की छूट न दें।

फीफा ने कहा, ‘‘अमेरिका के मिनेपोलिस सिटी में अफ्रीकन-अमेरिकन अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड के साथ हुई घटना के प्रति हमें साहुनभूति है। लेकिन फुटबॉल नियमों के उल्लंघन की छूट नहीं दी जा सकती है।’’

फ्लॉयड के सम्मान में घुटने के बल बैठे खिलाड़ी
रविवार को ही जर्मनी की फुटबॉल लीग बुंदेसलिगा में बोरुसिया डॉर्टमंड के दो खिलाड़ी जैडोन सैंचो और अचरफ हकीमी ‘जस्टिस फॉर फ्लॉयड’ लिखी टी-शर्ट पहनकर खेलने उतरे थे। इससे पहले बोरुसिया मूंचेनग्लैडबैक के खिलाड़ी मार्कस थूरम यूनियन बर्लिन के खिलाफ मैच में गोल करने के बाद फ्लॉयड के सम्मान में घुटने के बल बैठे थे।

जर्मनी एसोसिएशन ने भी नाराजगी जताई
जर्मनी एसोसिएशन ने सोमवार को घोषणा की थी मैच के दौरान खिलाड़ियों की ओर से इस तरह का व्यवहार अपनाना प्रतिबंधित है। इन सभी के बाद इंग्लैंड के क्लब लिवरपुल के खिलाड़ियों ने भी प्रैक्टिस के दौरान ब्रेक लेकर फ्लॉयड के सम्मान में घुटने के बल बैठकर फोटो खिंचवाया था।

अंतिम संस्कार का खर्च उठाएंगे फ्लॉयड मैवीदर
पूर्व बॉक्सिंग चैम्पियन फ्लॉयड मैवीदर ने जॉर्ज फ्लॉयड के अंतिम संस्कार और उनका स्मारक बनाने का खर्च उठाने की पेशकश की है। इसे मृतक के परिवार ने स्वीकार भी कर लिया है। जॉर्ज फ्लॉयड का अंतिम संस्कार 9 जून को ह्यूस्टन में किया जाएगा।

26 मई को फ्लॉयड को गिरफ्तार किया गया था
अमेरिका के मिनेपोलिस में 26 मई को धोखाधड़ी के एक मामले में फ्लॉयड को गिरफ्तार किया गया था। पूछताछ के दौरान एक पुलिस अफसर ने फ्लॉयड को सड़क पर ही गिरा दिया था और अपने घुटने से उसकी गर्दन को करीब 8 मिनट तक दबाए रखा। इस कारण उसकी मौत हो गई थी। इसका वीडियो भी वायरल हुआ था।

अमेरिका के 40 शहरों में कर्फ्यू
फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन डीसी समेत 40 शहरों में कर्फ्यू लगाया जा चुका है। वॉशिंगटन समेत 15 शहरों में करीब 5 हजार नेशनल गार्ड्स की तैनाती की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *