पूर्व भारतीय फुटबॉलर मेहराजुद्दीन का आरोप- बीमार मां को देखने जाते वक्त श्रीनगर पुलिस ने बदसलूकी की, अफसर ने कहा- मां की जान जाती है तो चली जाए

  • मेहराजुद्दीन वाडू का ट्वीट- इमरजेंसी में कोई कैसे पहले पास बनाने जाएगा ?
  • वाडू भारत के लिए 6 साल फुटबॉल खेल चुके हैं, फिलहाल हैदराबाद एफसी के असिस्टेंट कोच हैं

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 03:51 PM IST

भारत के लिए 6 साल फुटबॉल खेल चुके मेहराजुद्दीन वाडू ने श्रीनगर पुलिस पर बदसलूकी का आरोप लगाया है। उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। मेहराजुद्दीन ने लिखा- मुझे आज फोन आया कि मां की तबीयत ज्यादा खराब है। मैं फौरन उन्हें देखने के लिए अपनी कार से निकला। लेकिन रास्ते में मुझे बदशाह चौक ब्रिज पर पुलिस ने रोक लिया और पूछताछ की।

इसके बाद मुझे हिरासत में ले लिया गया। मैंने मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारी को मां की खराब तबीयत के बारे में जानकारी भी दी। लेकिन उन्होंने जो जवाब दिया वह वाकई हैरान करने वाला था। 

पुलिस ने मुझे दो घंटे हिरासत में रखा: वाडू
पुलिस अधिकारी ने मुझसे कहा, ‘‘अगर तुम्हारी मां की जान जाती है तो चले जाने दो। इतना ही नहीं उन्होंने मुझे गाली भी दी। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने मेरी कार की चाबी और फोन ले लिया। दो घंटे के बाद उन्होंने मुझे फोन करने दिया और तब जाकर मैं छूटा। पुलिस का यह रवैया गलत था। पुलिस को कम से कम उन लोगों को तो सम्मान करना चाहिए, जिन्होंने राज्य और देश के लिए योगदान दिया है।’’

‘पुलिस अफसरों का बर्ताव ठीक नहीं था’
मेहराजुद्दीन ने कहा, ‘‘कुछ अफसर ऐसे हैं, जो इंसानों के साथ जानवरों जैसा सलूक कर रहे हैं।  आप ही बताएं कि ऐसी इमरजेंसी में कोई कैसे पहले पास बनाने जाएगा?।’’ हालांकि, पूर्व फुटबॉलर के इन आरोपों पर श्रीनगर पुलिस की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है। 

वाडू घाटी में फुटबॉल को बढ़ावा देने के अभियान से जुड़े हैं

वाडू भारत के लिए 6 साल फुटबॉल खेल चुके हैं। इसके अलावा वे मोहन बागान, ईस्ट बंगाल और सलगांवकर और पुणे सिटी जैसे क्लब का भी हिस्सा रह चुके हैं। वे जम्मू-कश्मीर स्पोर्ट्स काउंसिल से भी जुड़े हैं और घाटी में फुटबॉल को बढ़ावा देने के अभियान से भी जुड़े रहे हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *