पूर्व चीफ सिलेक्टर प्रसाद ने कहा- धोनी खुद नहीं खेलना चाहते थे, इसलिए हमने पंत को मौका दिया

  • विश्व कप 2019 के बाद धोनी ने कोई इंटरनेशनल मैच नहीं खेला
  • एमएसके प्रसाद के मुताबिक, उन्होंने खुद माही से बातचीत की थी

दैनिक भास्कर

May 03, 2020, 12:25 PM IST

खेल डेस्क. विश्व कप 2019 के बाद से महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर नजर नहीं आए हैं। उनके भविष्य को लेकर आए दिन कयास लगाए जाते हैं। अब पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने खुलासा किया है कि माही खुद कुछ वक्त तक क्रिकेट नहीं खेलना चाहते थे, इसीलिए उन्हें टीम में भी शामिल नहीं किया गया। 
बता दें कि धोनी आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान हैं। अनिश्चितकाल के लिए यह टूर्नामेंट रद्द किए जाने से पहले धोनी फ्रेंचाइजी के होम ग्राउंड पर पहुंचे थे। कुछ दिन प्रैक्टिस भी की थी। 

धोनी नहीं थे, इसलिए पंत को मौका दिया
फेनकोड वेबसाइट को दिए वीडियो इंटरव्यू में प्रसाद ने धोनी के टीम से बाहर रहने पर नई जानकारी दी। कहा, “मैं एक बात बिल्कुल साफ कर देना चाहता हूं। पहले भी की है। हमने माही से खेलने के बारे में बातचीत की थी। लेकिन, वो खुद कुछ वक्त तक नहीं खेलना चाहते थे। लिहाजा, उनकी जगह ऋषभ पंत को मौका दिया गया। हम उनका पूरा समर्थन भी कर रहे हैं।”

रिटायरमेंट पर रिएक्शन नहीं
बीसीसीआई ने कुछ महीने पहले जारी सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में भी एमएस को नहीं रखा था। इसके बाद कयास लगने शुरू हुए कि वो जल्द ही संन्यास का ऐलान कर सकते हैं। हालांकि, माही ने अब तक ऐसी कोई घोषणा नहीं की। प्रसाद ने भी इस बारे में कुछ नहीं कहा। 

सवाल इसलिए भी
केएल राहुल न सिर्फ आईपीएल बल्कि इंटरनेशनल क्रिकेट के कई मैचों में विकेटकीपर-बल्लेबाज की दोहरी भूमिका रहे हैं। पंत नहीं चले तो राहुल ने दमदार उपस्थिति दर्ज कराई। यानी इन दो भूमिकाओं में धोनी के दो परखे हुए विकल्प टीम इंडिया के पास मौजूद हैं। प्रसाद ने कहा, “न्यूजीलैंड में वनडे सीरीज के दौरान राहुल ने बेहतरीन खेल दिखाया। अगर आईपीएल होता है तो हमारे पास धोनी का पुराना रंग देखने का मौका होगा। लेकिन, स्थितियां अभी जटिल हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *