पूर्व ऑस्ट्रेलियन कप्तान मार्क टेलर ने कहा- भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच यह आइकॉनिक मैच बगैर दर्शकों के अच्छा नहीं लगेगा

  • भारतीय टीम को दिसंबर-जनवरी में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 4 टेस्ट और 3 वनडे की सीरीज खेलना है
  • 26 दिसंबर को मेलबर्न में बॉक्सिंग डे और फिर 3 जनवरी को सिडनी में न्यू ईयर टेस्ट खेला जाएगा

दैनिक भास्कर

Jun 28, 2020, 07:20 PM IST

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर ने कहा कि भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाला बॉक्सिंग-डे टेस्ट एक आइकॉनिक मैच होगा। यह बगैर दर्शकों के अच्छा नहीं लगेगा। हालांकि, इससे पहले प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने सभी खेलों के लिए स्टेडियम में 25% दर्शकों को आने की मंजूरी दे चुके हैं।

भारत को ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अक्टूबर में तीन टी-20 खेलना है। इसके बाद 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक टी-20 वर्ल्ड कप होगा। फिर भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया में ही 4 टेस्ट और 3 वनडे की सीरीज भी खेलना है। इसकी शुरुआत 3 दिसंबर को ब्रिस्बेन टेस्ट से होगी। 26 दिसंबर को मेलबर्न में बॉक्सिंग डे और फिर 3 जनवरी को सिडनी में न्यू ईयर टेस्ट खेला जाएगा।

पर्थ या एडिलेड में कराया जाना चाहिए टेस्ट
टेलर ने एक न्यूज चैनल से कहा, ‘‘क्रिसमस के दौरान ऑस्ट्रेलिया में क्या हालात होंगे, यह आप समझ सकते हैं। ऐसे में मेलबर्न का एमसीजी स्टेडियम सिर्फ 10 या 20 हजार दर्शकों की मेजबानी ही कर सकता है। यह भारत-ऑस्ट्रेलिया जैसी टीमों के बीच होने वाले बड़े मैच के लिए बहुत कम है। आप इसे पर्थ के ऑप्टस स्टेडियम या फिर एडिलेड के ओवल में भी फुल फैंस के साथ करा सकते हैं। एडिलेड में तो लोग भारतीयों को खेलते देखना पसंद भी करते हैं।’’

टिम पेन भी चाहते हैं पूरे दर्शकों के साथ हो बॉक्सिंग-डे टेस्ट
हाल ही में ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने भी कह चुके हैं कि बॉक्सिंग डे टेस्ट दर्शकों से भरे स्टेडियम में होना चाहिए। टीम भी यही चाहती है। टिम पेन को लगता है कि विक्टोरिया राज्य में कोरोना के मामले ज्यादा बढ़ रहे हैं। ऐसे में मेलबर्न में 26 दिसंबर को होने वाले बॉक्सिंग डे टेस्ट को पर्थ में शिफ्ट किया जा सकता है।

शिफ्ट होने पर ऑप्टस स्टेडियम में हो सकता है बॉक्सिंग डे टेस्ट
प्रधानमंत्री की मंजूरी के बावजूद यह सरकार पर डिपेंड होगा कि वे बॉक्सिंग डे टेस्ट को खाली स्टेडियम में कराते हैं, या फिर कुछ दर्शकों को मंजूरी देते हैं। यदि यह बॉक्सिंग-डे टेस्ट पर्थ में शिफ्ट किया जाता है, तो ऑस्ट्रेलिया बोर्ड इसे ऑप्टस स्टेडियम में पूरे दर्शकों के साथ करा सकता है। इस स्टेडियम की कैपेसिटी 60 हजार दर्शकों की है। रिपोर्ट्स की मानें तो यह मैच मेलबर्न में ही बगैर दर्शकों के कराया जाना तय हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *