पीटरसन ने कहा- स्मिथ वनडे में विराट के आस-पास भी नहीं आ पाएंगे, कोहली सचिन से भी बेहतर

  • इंग्लैंड पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन ने कहा- विराट कोहली पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर कई सारे रिकॉर्ड तोड़ सकेंगे
  • सचिन ने तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे और टी-20) में कुल 100 शतक लगाए हैं, जबकि विराट 70 सेंचुरी ही लगा पाए हैं

दैनिक भास्कर

May 17, 2020, 01:33 PM IST

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन ने भारतीय कप्तान विराट कोहली की तारीफ की है। उन्होंने विराट को सचिन तेंदुलकर और पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ से बेहतर बताया है। पीटरसन ने कहा कि स्मिथ कभी भी कोहली के आस-पास भी नहीं पहुंच पाएंगे। वनडे में तो कोहली से बेहतर दूसरा कोई बल्लेबाज ही नहीं हैं।

पीटरसन ने जिम्बाब्वे  के तेज गेंदबाज पम्मी मिंगंगवा के साथ लाइव चैटिंग की। पम्मी ने पीटरसन से विराट और सचिन में से किसी एक को चुनने के लिए कहा था। इस पर पीटरसन ने कोहली का रिकॉर्ड सचिन से बेहतर है। उन्होंने कहा कि विराट अपने करियर में सचिन के बनाए कई रिकॉर्ड तोड़ देंगे।

सचिन ने 2012 में आखिरी वनडे खेला था
विराट ने 239 वनडे  में 59.34 की औसत से 11867 रन बनाए हैं, जबकि सचिन के नाम 463 वनडे में 44.83 के एवरेज से 18426 रन हैं। सचिन ने अंतिम वनडे 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था। उन्होंने सभी फॉर्मेट को मिलाकर 100 शतक लगाए हैं, जबकि विराट अब तक 70 शतक लगा चुके हैं।  

स्मिथ के मुकाबले विराट कई गुना बेहतर
स्मिथ और विराट में से एक को चुनने के पम्मी के सवाल पर पीटरसन ने कोहली का नाम लिया। उन्होंने कहा कि स्मिथ विराट के आस-पास भी नहीं हैं और इसकी उम्मीद भी नहीं है कि वे कभी उनके पास भी पहुंच पाएंगे। विराट ने दबाव में कई बार बेहतर बल्लेबाजी की है। उसने रन का पीछा करते हुए 80 प्रतिशत मैचों में भारत को अपनी बल्लेबाजी की बदौलत जीत दिलाई है।

स्मिथ टेस्ट रैंकिंग और विराट वनडे में नंबर-1
मौजूदा आईसीसी टेस्ट रैकिंग में स्मिथ नंबर-1 और विराट दूसरे नंबर पर है। वनडे की बात की जाए तो विराट शीर्ष पर हैं, जबकि स्मिथ टॉप-10 में भी शामिल नहीं हैं। स्मिथ ने अब तक खेले 125 वनडे में 42.47 की औसत से 4162 और 73 टेस्ट में 62.84 के एवरेज से 7227 रन बनाए हैं। विराट के नाम 86 टेस्ट में 53.63 की औसत से 7240 रन दर्ज हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *