पाकिस्तान के पूर्व मेयर ने अफरीदी को बुजदिल बताया, कहा- जिस पीओके में जाकर मोदी को ललकारा, वह भारत की ही जमीन है

  • आरिफ अजाकिया ने कहा- शाहिद अफरीदी जब पैसा कमाने के लिए आईपीएल खेलने जाते थे, तब कश्मीर याद नहीं आता था
  • हाल ही में अफरीदी की कुछ वीडियो क्लिप वायरल हुई थीं, जिसमें उसने मोदी को डरपोक और मानसिक तौर पर बीमार बताया था

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 04:29 PM IST

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) जाकर लोगों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में विवादित बयान दिया था। इस पर कराची में जमशेद टाउन के पूर्व मेयर और मानवाधिकार कार्यकर्ता आरिफ अजाकिया ने अफरीदी को बुजदिल बताया।

अजाकिया ने कहा, ‘‘आज जिस जमीन पर तुम (अफरीदी) खड़े होकर बात रहे हो, वह पीओके भारत की ही जमीन है। 1947 में अगर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री होते तो आज कश्मीर का मसला होता ही नहीं।’’

‘अफरीदी काम के लिए भारतीयों के आगे-पीछे घूमते थे’
पूर्व मेयर ने कहा, ‘‘अफरीदी जब पैसा कमाने के लिए आईपीएल खेलने जाते थे, तब उन्हें कश्मीर याद नहीं आता था। जब तुम भारतीय क्रिकेटर्स के आगे पीछे घूमते थे काम के लिए तब हिंदुस्तान ठीक था, लेकिन आज जब कुछ नहीं मिल रहा तो वही भारत बुरा हो गया। आज तुम चार आटे की बोरियां लेकर आए और कश्मीर में बांट दी। यहां तुमने वही बोला जो आर्मी ने तुम्हें लिखकर दिया था।’’

गंभीर ने भी अफरीदी को जवाब दिया था
हाल ही में अफरीदी की कुछ वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं। इसमें उन्होंने मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया था। अफरीदी ने मोदी को डरपोक और मानसिक तौर पर बीमार बताया। इस पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने जवाब भी दिया था। गौतम ने कहा था, ‘‘पाकिस्तान को कश्मीर जजमेंट डे (फैसले वाला दिन) तक नहीं मिलेगा। बांग्लादेश याद है या भूल गए?’’

1947 में मोदी होते तो कश्मीर का मसला नहीं होता: अजाकिया
अजाकिया ने कहा, ‘‘1947 में जब बंटवारा हुआ था, तब राजा हरिसिंह ने अपनी कश्मीर रियासत को भारत में मिला दिया था। भारत की गलती थी कि इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र संघ (यूएन) में ले गया। जिस नरेंद्र मोदी को तुम गाली दे रहे हो वे अगर तब प्रधानमंत्री होते तो यह मसला ही नहीं होता। यूएन जाने की जरूरत ही नहीं पड़ती। तब भारत ने नहीं बल्कि तुम्हारे दादा कबायलियों ने ही जम्मू-कश्मीर में जुल्म ढाया था।’’

‘कश्मीर में आतंकवाद के लिए अफरीदी अपने कजिन भेजते हैं’
उन्होंने कहा, ‘‘तुम्हारी मर्दानगी तब कहां चली जाती है, जब तुम्हारे प्रांत में कबाइलियों पर जुल्म ढाया जाता है। तुम बुजदिल हो जो जालिम फौज के खिलाफ आवाज उठाने से डरते हो। इस पाकिस्तानी फौज से आतंकवाद और जुल्म के अलावा कुछ भी नहीं मिल सकता। अफरीदी तुम्हें कश्मीर का कुछ इतिहास नहीं पता है। जिस कश्मीर में आतंकवाद फैलाने के लिए तुम अपने कजिन को भेज रहे हो, वहीं तुम आईपीएल खेलने जाया करते थे। तुम में थोड़ी भी शर्म होगी तो चुल्लुभर पानी में डूबकर मर जाओगे। तुम नमक हराम हो।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *