पहले गोल के जश्न में हेरथा टीम के खिलाड़ी ने साथी प्लेयर को गले लगाकर किस किया, बुंदेसलिगा ने कहा- सजा नहीं मिलेगी

  • कोरोना के बीच जर्मनी में 65 दिन बाद फुटबॉल की वापसी हुई, टॉप लीग बुंदेसलिगा के मुकाबले 11 मार्च से बंद थे
  • इसी महीने हेरथा बर्लिन क्लब के सालोमन कलाऊ को सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन पर सस्पेंड किया गया था

दैनिक भास्कर

May 17, 2020, 10:45 AM IST

कोरोनावायरस के बीच जर्मनी में 65 दिन बाद सख्त नियमों के साथ फुटबॉल की वापसी हुई है। 11 मार्च से बंद बुंदेसलिगा शनिवार से शुरू हो गई। यहां पहले ही मैच में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती हुई देखी गईं। मैच में हेरथा बर्लिन के देदरिक बोयाता ने पहले गोल के जश्न में साथी खिलाड़ी मार्को ग्रूजिच को गले लगाकर किस कर लिया। बुंदेसलिगा प्रबंधन ने इसे मैच का हिस्सा बताते हुए खिलाड़ी को सजा देने से इनकार कर दिया है।

मैच हेरथा ने हॉफेनहम एफसी को 3-0 से शिकस्त दी। लीग में हेरथा की 26 मैच में यह 8वीं जीत है। उसने 11 हारे और 7 मैच ड्रॉ खेले। इस जीत के साथ हेरथा को 2 स्थान का फायदा हुआ और वह अंक तालिका में 32 पॉइंट के साथ 11वें नंबर पर आ गया। वहीं, हॉफेनहम 26 मैच में 10 जीत के साथ 9वें स्थान पर है। 11 हार और 5 ड्रॉ के साथ टीम के 35 पॉइंट हैं।

‘खिलाड़ी का भावुक होना खेल का हिस्सा’
हेरथा के नए कोच ब्रूनो लब्बादिया ने कहा, ‘‘सच्चाई यह है कि यह सबकुछ खेल का ही हिस्सा है। हमने कई बार कोरोना टेस्ट कराया है, इसलिए मैं इस तरह के जश्न को मैच में मंजूरी दे सकता हूं। खिलाड़ी का भावुक होना खेल का ही हिस्सा है। यह सब भावनाओं के कारण हो जाता है।’’ ब्रूनो को लॉकडाउन के दौरान ही टीम का कोच बनाया गया है। उन्होंने जर्गेन क्लिंसमैन की जगह ली है।
गाइडलाइन खिलाड़ियों के लिए प्रतिबंध नहीं
जर्मन फुटबॉल लीग ने टूर्नामेंट के लिए 51 पेज की गाइडलाइन बनाई थी। इसके तहत खिलाड़ियों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की हिदायत दी थी। गोल या मैच जीतने के बाद जश्न के तौर पर पैर या कोहनी ही मिलाई जाए। लेकिन शनिवार को प्रवक्ता ने कहा, ‘‘किस करने पर खिलाड़ी को सजा नहीं दी जा सकती। हमारी गाइडलाइन खिलाड़ियों और क्लब के लिए एक सलाह मात्र थी। यह कोई प्रतिबंध नहीं था।’’

हेरथा के सालोमन ने भी सोशल डिस्टेंसिंग नियम तोड़ा
इसी महीने के पहले हफ्ते में हेरथा के खिलाड़ी सालोमन कलाऊ को सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने की वजह से सस्पेंड कर दिया गया था। उन्होंने साथी खिलाड़ियों और क्लब के कर्मचारियों से हाथ मिलाने का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया था। तब जर्मन फुटबॉल लीग ने भी नाराजगी जताई थी। हालांकि, कलाऊ ने अपनी इस हरकत के लिए माफी भी मांग ली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *