परमानेंट ‘वर्क फ्राॅम होम’ पर सत्‍या नडेला ने दी प्रतिक्रिया, कहा- हमेशा के लिए घर से काम करना मानसिक स्वास्थ्य के लिए हो सकता है खतरनाक

  • नडेला का मानना है कि आज की परिस्थिति में हम एक उलझन सुलझाने के लिए नई उलझन से रूबरू हो रहे हैं
  • ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने अपने कर्मचारियों को रिटायरमेंट तक के लिए घर से काम करने का विकल्प दिया है

दैनिक भास्कर

May 18, 2020, 05:06 PM IST

सैन फ्रांसिस्को. कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए दुनियाभर में लागू लाॅकडाउन के कारण लाखों-करोड़ों कर्मचारी घर से काम कर रहे हैं। मजबूरी में ही सही लेकिन देश दुनिया के तमाम कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को वर्क फ्राॅम होम की सुविधा दी है। कई कंपनियां तो इसे आगे जारी रखने पर भी विचार कर रही हैं। हाल ही में ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने अपने कर्मचारियों को रिटायरमेंट तक के लिए घर से काम करने का विकल्प दिया है। अब इस पर माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला ने अपनी प्रातक्रिया दी है और कहा है कि परमानेंट वर्क फ्रॉम होम कर्मचारियों के स्वास्थ और उनकी मेंटल हेल्थ के लिए ठीक नहीं है। नडेला का मानना है कि वर्चुअल वीडियो कॉल इन-पर्सन बैठकों की जगह नहीं ले सकती।

प्रश्न करते हुए कहा कि अब हमारे सामने उपाय क्या हैं?

नडेला ने द न्यूयॉर्क टाइम्स के साथ बातचीत में अपनी प्रतिक्रिया दी है। नडेला का मानना है कि आज की परिस्थिति में हम एक उलझन सुलझाने के लिए नई उलझन से रूबरू हो रहे हैं। उन्होंने प्रश्न करते हुए कहा कि अधिक काम या परेशान का बोझ कैसा होता है? मानसिक स्वास्थ्य कैसा हो जाता है? ऐसे में सामुदायों का क्या स्वरूप हो और सम्पर्क के सूत्र क्या हों? मुझे ऐसा लगता है कि मौजूदा हालात मे दफ्तर से दूर रह कर काम करते हुए हम उन तमाम समाजिक एवं पारस्परिक समरिधियों को लुटा रहे हैं जो हमने सामान्य परिस्थिति में जमा की थीं। अब हमारे सामने उपाय क्या हैं?

वर्क एंड लर्न फ्रॉम होम से माइक्रोसॉफ्ट की बड़ी कमाई

माइक्रोसॉफ्ट की वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में कुल कमाई 35 बिलियन डॉलर (करीब 2.6 लाख करोड़ रुपए) रही है। इसमें वार्षिक आधार पर पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 15 फीसदी की वृद्धि हुई है। कंपनी के अनुसार, तीसरी तिमाही में 10.8 बिलियन डॉलर (करीब 81 हजार करोड़ रुपए) का शुद्ध मुनाफा हुआ है, जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 22 फीसदी ज्यादा है। कंपनी ने कहा है कि ग्राहकों के वर्क एंड लर्न फ्रॉम होम पर शिफ्ट होने के कारण उसके क्लाउड प्लेटफॉर्म एज्यूर की ग्रोथ और कमाई तेजी से बढ़ी है। इसका फायदा कंपनी को मिला है।

गूगल एवं फेसबुक भी वर्क फ्रॉम होम करने की अनुमति दे चुके हैं

बता दें कि गूगल एवं फेसबुक ने इस साल के अंत तक यानी दिसंबर तक अपने कर्मचारी को वर्क फ्रॉम होम करने का विकल्प दिया है। फेसबुक अपने ऑफिस को 6 जुलाई से खोल सकता है। गूगल के कर्माचारी जुलाई की शुरुआत से ऑफिस जा सकते हैं, लेकिन अधिकांश लोग घर से ही काम करेंगे। ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन इंडिया अपने कर्माचारियों को अक्टूबर तक वर्क फ्रॉम की अनुमति दी है। वहीं, माइक्रोसॉफ्ट ने वर्क फ्राॅम होम की नीति को अक्टूबर तक के बढ़ा दिया है।