नस्लीय विवाद के बीच एडिडास का ऐलान, अश्वेत और लैटिन कर्मचारियों के होगी 30 फीसदी पोस्ट

  • अश्वेत समुदायों की मदद के लिए 20 मिलियन डॉलर दान करने का भी फैसला
  • अमेरिकी कॉर्पोरेट रंगभेद के खिलाफ खुलकर बोल रहे हैं

दैनिक भास्कर

Jun 10, 2020, 01:39 PM IST

नई दिल्ली. स्पोर्ट्स के परिधान बनाने वाली जर्मनी की दिग्गज कंपनी एडिडास (ADDYY) में अब 30 फीसदी अश्वेत कर्मचारी काम करेंगे। मंगलवार को कंपनी ने ऐलान किया है कि अमेरिका स्थित एडिडास कंपनी में करीब 30 फीसदी पोस्ट सिर्फ अश्वेत और लैटिन कर्मचारियों के लिए रहेंगी। बता दें कि कंपनी ने यह फैसला नस्लीय व रंगभेद विवाद के बाद लिया है। 

दुनियाभर के दिग्गज कंपनियों का समर्थन

फ्लायड की मौत ने एक बार फिर दुनियाभर में नस्लभेद के मुद्दे को गरम कर दिया। पूरी दुनिया में नस्लभेद के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। जिनेवा से लेकर अमेरिका और जर्मनी तक में लोग नस्लभेद के खिलाफ उठ खड़े हुए हैं। फ्लॉयड के आखिरी शब्द आई कांट ब्रिथ इस आंदोलन का एक अहम नारा बन गया। अमेरिकी कॉर्पोरेट भी इस घटना की कड़ी निंदा कर रहा है। रंगभेद के खिलाफ खुलकर बोल रहे हैं। इसी के मद्देनजर एडिडास ने एक नई भर्ती पहल को शुरू कर दिया है। 
बता दें कि हाल ही में सोशल नेटवर्किंग साइट रेडिट (Reddit) के को-फाउंडर एलेक्सिस ओहेनियन (Alexis Ohanian) ने कंपनी के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कंपनी से अपनी जगह इस पद पर किसी अश्वेत व्यक्ति को नियुक्त करने का आग्रह किया। साथ ही उन्होंने अपनी कमाई को अश्वेत समुदाय की सेवा में लगाने का वादा भी किया है।
 

‘कंपनी की सफलता में अश्वेत समुदाय का योगदान’

पोर्टलैंड बिजनेस जर्नल की एक रिपोर्ट के अनुसार, हाल ही में एडिडास के उत्तरी अमेरिकी स्थित हेडक्वार्टर जो कि पोर्टलैंड में है, यहां के हजारों कर्मचारियों ने काम को छोड़ दिया है और वे लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। वजह यह है कि एडिडास ने अन्य स्पोर्ट्स कंपनियों की तरह ब्लैक एथलीट्स और सेलिब्रिटीज के साथ अपने स्पाॅनसर्स डील को बंद कर दिया था। 

एडिडास के सीईओ कास्पर रोरस्टेड ने मंगलवार को अपने बयान में कहा, “हम पिछले दो सप्ताह से लगातार नस्लीय घटनाओं के विरोध में चल रही प्रदशर्न को देख रहे हैं। हम अपने कर्मचारियों के साथ किसी प्रकार की भेदभाव नहीं रखते हैं। हमारे सभी कर्मचारी सुरक्षित और समान अवसर के साथ अपने करियर को आगे बढ़ा सकते हैं। 
कंपनी ने कहा कि हम अपनी सफलता के लिए अश्वेत समुदाय के विशाल योगदान को पहचानते हैं। “हम इक्विटी, विविधता और अवसर सुनिश्चित करने के लिए अपनी कंपनी की संस्कृति में सुधार करने का वादा करते हैं।’ हम समझते हैं कि नस्लवाद के खिलाफ लड़ाई एक है जिसे लगातार और सक्रिय रूप से लड़ा जाना चाहिए। हमें बेहतर करना होगा।’

20 मिलियन डॉलर दान करेगी कंपनी 

रोरस्टेड ने कहा कि कंपनी अपने 30% अश्वेत और लैटिन कर्मचारियों को काम पर रखने का फैसला किया है। उनके लिए पोस्ट बनाए गए हैं। हालांकि, एडिडास ने यह कहने से साफ इनकार कर दिया कि अमेरिका या उत्तरी अमेरिका में वर्तमान में उनके अश्वेत कर्मचारियों की संख्या कितने प्रतिशत है। इतना ही नहीं एडिडास अगले चार साल में अश्वेत समुदायों की मदद के लिए 20 मिलियन डॉलर दान करने का फैसला भी किया है। बता दें कि हाल ही में नाइकी ने भी अश्वेत समुदाय की मदद के लिए 40 मिलियन डॉलर दान करने का ऐलान किया था।