दिल्ली के 88 फीसदी दुकानदार बाजारों को बंद करने के पक्ष में, ग्राहकों की कमी के कारण केवल 5-10 फीसदी रहा कारोबार 

  • कैट ने सर्वे में 2800 ट्रेड एसोसिएशन- प्रमुख व्यापारी नेताओं से बातचीत की
  • 92.8 फीसदी ने कहा- बाजार खुले रहे तो कोरोना तेजी से फैल सकता है

दैनिक भास्कर

Jun 13, 2020, 04:59 PM IST

नई दिल्ली. दिल्ली के करीब 88 फीसदी दुकानदार बाजार खोलने के पक्ष में नहीं हैं। यह दावा कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के एक ऑनलाइन सर्वे में किया गया है। सर्वे में दावा किया गया है कि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अधिकांश दुकानदार बाजारों को बंद रखने के पक्ष में हैं।

5-10 फीसदी रहा कारोबार

दिल्ली के 2800 ट्रेड एसोसिएशन और प्रमुख व्यापारी नेताओं से ऑनलाइन बातचीत के आधार पर कैट ने यह सर्वे रिपोर्ट जारी की है। इसमें से 2610 उत्तरदाताओं ने राजधानी दिल्ली में कोरोना को फैलने से रोकने के लिए दुकानों और बाजारों को बंद रखने की बात कही है। सर्वे में बाजारों को बंद रखने का एक अन्य प्रमुख कारण भी सामने आया है। सर्वे के मुताबिक, ग्राहकों और कर्मचारियों की कमी के कारण अब दिल्ली के बाजारों में सामान्य के मुकाबले केवल 5 से 10 फीसदी ही कारोबार रह गया है।

92.8 फीसदी ने माना- बाजार खुले तो ज्यादा फैलेगा कोरोना

कैट के प्रमुख प्रवीण खंडेलवाल की ओर से जारी किए गए सर्वे डाटा के मुताबिक, 92.8 फीसदी उत्तरदाताओं का मानना है कि यदि बाजार खोले गए तो कोरोना महामारी ज्यादा फैलेगी। करीब इतने ही उत्तरदाताओं ने कहा कि दिल्ली का स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर ज्यादा कोरोना मरीजों को संभालने में सक्षम नहीं है।

बाजारों को बंद रखने पर फैसला कल

खंडेलवाल ने कहा कि उन्होंने रविवार यानी कल दिल्ली के प्रमुख ट्रेड एसोसिएशंस की एक वीडियो कॉन्फ्रेंस बुलाई है। इस कॉन्फ्रेंस में सर्वे रिपोर्ट साझा की जाएगी। इसके बाद ही व्यापारी नेता बाजारों को बंद रखने पर फैसला करेंगे। इसके अलावा कैट ने दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल को भी पत्र लिखकर बाजारों को बंद करने के संबंध में चर्चा करने के लिए समय मांगा है। 

बाजारों में अघोषित लॉकडाउन जैसे हालात

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़ने के साथ ही बाजारों में अघोषित लॉकडाउन जैसे हालात बन गए हैं। दिल्ली सरकार की मंजूरी के बाद भी अधिकांश मॉल खुले नहीं हैं। शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और बाजारों में एक-दो दुकानें ही खुल रही हैं। पिछले कुछ दिनों में कई राज्यों ने लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लगा दी हैं। पंजाब ने वीकेंड और हॉलीडे में प्रतिबंध बढ़ा दिए हैं।