ट्रैवल बैग और फैशन से जुड़े सामान बनाने वाली वाइल्डक्राफ्ट अब पीपीई किट और मास्क की करेगी मैन्यूफैक्चरिंग, दो माह में देगी 1 लाख लोगों को काम

  • इसके लिए कंपनी 11 शहरों में 63 कारखानों के साथ साझेदारी की है
  • कंपनी की प्रतिदिन 10 लाख मास्क बनाने की क्षमता है

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 12:00 PM IST

नई दिल्ली. देशभर में लॉकडाउन का असर ज्‍यादातर कंपनियों पर पड़ा है। ऐसे में एक तरफ कंपनियां अपने स्टाॅफ की छंटनी कर रही है। वहीं, कुछ इस ट्रेंड के विपरित भर्तियां कर रही हैं। ट्रैवल बैग, यात्रा और फैशन से जुड़े सामान बनाने वाली बेंगलुरु की कंपनी वाइल्डक्राफ्ट अगले दो माह में एक लाख लोगों की हायरिंग करेगी। 

कंपनी करेगी पीआई किट की मैन्यूफैक्चरिंग और डिलिवरी

कोरोना संकट को देखते हुए कंपनी की योजना निजी सुरक्षा से जुड़े सामानों (पीपीई) की मैन्यूफैक्चरिंग और डिलिवरी तेज करने की है। इसके लिए कंपनी 11 शहरों में 63 कारखानों के साथ साझेदारी की है। इसी के मद्देनजर कंपनी अब लाखों लोगों को रोजगार देने की योजना बना रही हैं। बता दें कि अब तक कंपनी 30,000 लोगों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रोजगार दे चुकी है। कंपनी की प्रतिदिन 10 लाख मास्क बनाने की क्षमता है। 

कोरोना संकट के चलते बढ़ी मास्क की डिमांड 

कंपनी के सह-संस्थापक गौरव डुबलिश ने कहा कि कोविड-19 के चलते निजी सुरक्षा से जुड़े सामानों की डिमांड में काफी तेजी आई है, वहीं दूसरी ओर कपड़ा उद्योग का कारोबार सुस्त है। उन्होंने कहा, ‘मौजूदा संकट को देखते हुए हमने अपने आप को इस नए स्वरूप में बखूबी ढाल लिया है।

डुबलिश ने कहा कि हम कम से कम इस क्षेत्र के लिए तैयार हैं। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत बनाने के दृष्टिकोण में हमारा विश्वास है। आने वाले दिनों में एक लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार देने पर विचार कर रहे हैं।