टी-20 वर्ल्ड कप टलता है तो बीसीसीआई को उसकी जगह आईपीएल कराने का पूरा अधिकार: माइकल होल्डिंग

  • इस साल टी-20 वर्ल्ड कप 18 अक्टूबर से 15 नवंबर तक ऑस्ट्रेलिया में होना है
  • लॉकडाउन के कारण 29 मार्च से होने वाला आईपीएल अनिश्चितकाल के लिए टला

दैनिक भास्कर

Jun 08, 2020, 01:59 PM IST

वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज और कमेंटेटर माइकल होल्डिंग ने कहा कि इस साल टी-20 वर्ल्ड कप होना मुश्किल है। यदि टूर्नामेंट नहीं होता है, तो भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को उसकी जगह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) कराने का पूरा अधिकार है। उन्होंने कहा कि इसमें कोई गलत नहीं है, क्योंकि टी-20 वर्ल्ड कप नहीं होने के बाद सभी क्रिकेट बोर्ड को अपना घरेलू टूर्नामेंट कराने का अधिकार है।

इस साल टी-20 वर्ल्ड कप 18 अक्टूबर से 15 नवंबर के बीच ऑस्ट्रेलिया में होना है। हालांकि इस पर अंतिम फैसला 10 जून को होने वाली आईसीसी की बैठक में लिया जाएगा। ऐसा माना जा रहा है कि टी-20 वर्ल्ड कप के टलने की पूरी संभावना है। क्योंकि कोरोना के कारण कई देशों के बीच अभी हवाई सेवा शुरू नहीं हो सकी है।

‘आईसीसी पर आरोप लगाना गलत’
होल्डिंग ने इंस्टाग्राम लाइव चैट के दौरान कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप में देरी कर आईपीएल के लिए जगह बना रहा है। आईसीसी पर इस तरह के आरोप लगाना गलत है, क्योंकि ऑस्ट्रेलिया सरकार ने अपने यहां विदेशियों के आने पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। वहीं अभी कई देशों के बीच अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवा शुरू नहीं हो सकी है।’’

‘लार के प्रतिबंध से समस्या नहीं’
पूर्व गेंदबाज ने कहा, ‘‘गेंद को चमकाने के लिए लार के प्रतिबंध के प्रस्ताव से कोई व्यवहारिक समस्या नहीं होगी। मुझे नहीं लगता कि लार पर प्रतिबंध एक गंभीर समस्या है। समस्या सिर्फ यह रहेगी कि क्रिकेटरों को इसको अपनाने में कुछ समय लगेगा। जब आप मैदान पर होते हैं और आप गेंद को चमकाना चाहते हैं, तो आप लार का इस्तेमाल करते हैं, खिलाड़ियों के लिए यह एक स्वभाविक प्रक्रिया है।’’

‘गेंद को चमकाने के लिए पसीने का इस्तेमाल करें’
होल्डिंग ने कहा कि गेंद को चमकाने के लिए लार की जगह पसीना बेहतर हो सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘आपको केवल गेंद पर नमी लानी होती है, जो आप पसीने से भी कर सकते हैं। आपको लार का इस्तेमाल नहीं करना होगा। आपके हाथ या माथे का पसीना लार के जैसा ही काम करेगा। मैंने किसी को यह कहते नहीं सुना कि कोविड-19 पसीने से फैल सकता है।’’

पिच के छेड़छाड़ करना सही नहीं
हाल ही में कुंबले ने कहा था कि क्रिकेट में बल्ले और गेंद के बीच रोमांच बनाए रखने के लिए पिच का इस्तेमाल होना चाहिए। इस बात से होल्डिंग सहमत नहीं हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं पिच के
साथ छेड़छाड़ करने में विश्वास नहीं करता।’’ होल्डिंग ने मौजूदा पीढ़ी के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज के रूप में ऑस्ट्रेलियाई पैट कमिंस को चुना। उन्होंने कहा कि इससे पहले वे डेन स्टेन के बड़े फैन थे।

टी-20 से वनडे को कोई खतरा नहीं
होल्डिंग ने इस बात से इंकार किया कि टी-20 के कारण वनडे पर खतरा मंडरा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि आईसीसी को कभी भी 50 ओवरों के क्रिकेट से छुटकारा मिलेगा,
क्योंकि इस फॉर्मेट की टीवी राइट्स से मोटी कमाई होती है।’’ उन्होंने कहा कि वे टी-20 के प्रशंसक नहीं है, लेकिन अभी क्रिकेट को छोटे से छोटा बनाने का सही समय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *