जापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप के बोर्ड से हटे अलीबाबा के सहसंस्थापक जैक मा, 13 साल तक अपने पद पर रहे

  • जैक मा ने सॉफ्ट बैंक के वित्तीय नतीजों से पहले ही छोड़ा पद
  • सितंबर 2019 में अलीबाबा के चेयरमैन पद से रिटायर हुए थे

दैनिक भास्कर

May 18, 2020, 03:53 PM IST

नई दिल्ली. चीन की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के सह-संस्थापक जैक मा ने जापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप के बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है। वह 13 वर्षों से सॉफ्टबैंक ग्रुप से जुड़े थे। बैंक ने सोमवार को यह जानकारी दी है।

इस्तीफे की वजह नहीं बताई

भारी कर्ज के बोझ तले सॉफ्टबैंक ने जैक मा के इस्तीफे की वजह नहीं बताई है। हालांकि, कई मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि सॉफ्टबैंक के साझा उपक्रम वीवर्क के जोखिमपूर्ण निवेश को लेकर जैक मा ने इस्तीफा दिया है। जैक मा ने सॉफ्टबैंक के वित्तीय नतीजों से पहले इस्तीफे की घोषणा की है। जैक मा 2007 में सॉफ्टबैंक के बोर्ड से जुड़े थे और उनके बैंक के संस्थापक मासायोशी सोन के साथ करीबी संबंध बताए जाते हैं।

सोन ने अलीबाबा में किया था 20 मिलियन डॉलर का निवेश

सीएनएन के मुताबिक वर्ष 2000 में सोन ने अलीबाबा में 20 मिलियन डॉलर का निवेश किया था। 2014 जब अलीबाबा बाजार में आई तो सोन का यह निवेश बढ़कर 60 बिलियन डॉलर का हो गया था। इसमें से सॉफ्ट बैंक ने कुछ शेयर बेच दिए थे। लेकिन अभी भी बैंक की अलीबाबा में 25.1 फीसदी हिस्सेदारी है जो करीब 133 बिलियन डॉलर के आसपास है। जैक मा अकेले ऐसे व्यक्ति हैं जो सॉफ्टबैंक ग्रुप के मौजूदा 11 डायरेक्टर्स में से हटे हैं।

तीन नए डायरेक्टर्स की नियुक्ति

इसके अलावा सॉफ्टबैंक ने बोर्ड में तीन नए सदस्यों की नियुक्ति की घोषणा भी की है। इसमें सॉफ्टबैंक के मुख्य वित्तीय अधिकारी योशिमित्सु गोटो, कैडेंस डिजाइन सिस्टम्स के सीईओ लिप-बू तान और वासेद बिजनेस स्कूल के प्रोफेसर युको क्वामोटो शामिल हैं।

जैक मा ने पिछले साल ही छोड़ी थी अलीबाबा

जैक मा ने सितंबर 2019 में ही अलीबाबा के चेयरमैन का पद छोड़ा था। तब उन्होंने कहा था कि वह रिटायर होने के बाद शिक्षा के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं। जैक मा लंबे समय से सामाजिक कार्यों से जुड़े हैं और कोरोना संकट में भी उन्होंने परोपकार से जुड़े कई कार्य किए हैं। आपको बता दें कि जैक मा ने अपने करियर की शुरुआत एक अंग्रेजी शिक्षक के रूप में की थी।