जब गुस्से में कुलदीप से धोनी ने कहा- मैं पागल हूं, 300 वनडे खेले हैं और तुम मेरी बात नहीं सुन रहे हो

  • कुलदीप यादव ने बताया कि इस घटना के बाद मैं इतना डर गया था कि होटल लौटते वक्त टीम बस में ही महेंद्र सिंह धोनी से माफी मांग ली थी
  • ‘धोनी के पास काफी अनुभव है, युवा खिलाड़ी अच्छा कर रहे हैं, लेकिन माही का मौजूद न होना कभी-कभी खलता है’

दैनिक भास्कर

Apr 18, 2020, 12:00 AM IST

टीम इंडिया को अपनी कप्तानी में टी-20 और वनडे का वर्ल्ड चैम्पियन बनाने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को मैदान पर गुस्सा करते कम ही देखा गया है। इसलिए उन्हें ‘कैप्टन कूल’ कहा जाता है। लेकिन स्पिनर कुलदीप यादव ने इंस्टाग्राम पर स्पोर्ट्स एंकर जतिन सप्रू से वीडियो चैट के दौरान धोनी के गुस्से को लेकर खुलासा किया है। उन्होंने पूर्व कप्तान से जुड़ा एक वाकया बताया, जिसमें वे धोनी को गुस्से में देखकर घबरा गए थे। तब खुद धोनी ने उन्हें बताया था कि 20 साल में पहली बार मैंने अपना आपा खोया है। 

कुलदीप ने इस वीडियो में बताया कि 2017 में हम श्रीलंका के खिलाफ इंदौर में एक टी-20 मैच खेल रहे थे। कुशल परेरा बल्लेबाजी कर रहे थे। उन्होंने मेरी गेंद पर कवर्स के ऊपर से उठाकर चौका मारा। इसके बाद धोनी भाई ने विकेट के पीछे से चिल्लाते हुए मुझसे कहा कि मैं फील्डिंग में बदलाव करूं। लेकिन मैंने उनके सुझाव को नहीं सुना और अगली ही गेंद पर परेरा ने रिवर्स स्वीप पर चौका मार दिया। इसके बाद जो हुआ वह मैंने सोचा नहीं था। गुस्से में धोनी मेरे पास आए और कहा कि मैं पागल हूं? 300 वनडे खेला हूं और समझा रहा हूं कि यहां पर गेंद डाल और तुम मेरी बात ही नहीं सुन रहे। हालांकि, धोनी के हिसाब से फील्डिंग लगाने के कुछ देर बाद मुझे विकेट मिल गया। उस मैच में मैंने 4 ओवर में 52 रन देकर 3 विकेट लिए थे। 

भारत ने इस मैच में श्रीलंका को 88 रन से हराया था। रोहित शर्मा ने मैच में कप्तानी संभाली थी और विकेटकीपिंग धोनी के जिम्मे थी। रोहित ने 118 रन की शतकीय पारी खेली और मैन ऑफ द मैच रहे थे।

मैं इतना डर गया था कि धोनी से माफी मांगी: कुलदीप

कुलदीप ने बताया कि इस घटना के बाद मैं इतना डर गया था कि होटल लौटते वक्त टीम की बस में धोनी के पास गया और माफी मांगी। मैंने उनसे पूछा कि आपने पहले भी कभी ऐसे आपा खोया है। मेरे इस सवाल पर धोनी ने कहा था- मुझे 20 साल पहले गुस्सा आता था, जब मैं रणजी ट्रॉफी में खेलता था। टीम इंडिया के लिए खेलते हुए मुझे 2 या 3 बार ही गुस्सा आया। 

‘धोनी की कमी खलती है’ 
इससे पहले कुलदीप ने कहा था कि धोनी के पास काफी अनुभव है और उन्होंने भारतीय टीम को बहुत कुछ दिया है। ऐसे में जब इस कद का खिलाड़ी टीम में नहीं होता है तो उसकी कमी खलती है। पंत और राहुल युवा खिलाड़ी हैं और अच्छा कर रहे हैं। इसलिए टीम पर बहुत ज्यादा फर्क तो नहीं पड़ा। लेकिन उनका मौजूद न होना कभी-कभी खलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *