छोटे कारोबारियों के लिए क्रेडिट सुविधा लॉन्च कर सकती है गूगल-पे, कई बैंकों से चल रही बातचीत

  • नए फीचर से गूगल-पे के 30 लाख मर्चेंट को मिलेगी इंस्टेंट क्रेडिट सुविधा
  • तेजी से डिजिटाइज हो रहे एसएमई सेगमेंट में हिस्सेदारी बढ़ाना चाहती है गूगल-पे

दैनिक भास्कर

Jun 25, 2020, 05:19 PM IST

नई दिल्ली. अमेरिका की दिग्गज टेक कंपनी गूगल भारत में अपने पेमेंट प्लेटफॉर्म गूगल-पे पर स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (एसएमई) के लिए क्रेडिट फीचर लॉन्च कर सकती है। इसके लिए कंपनी भारत के कई टॉप बैंकों से बातचीत कर रही है। यदि सबकुछ ठीक रहता है तो यह फीचर इस साल के अंत तक शुरू हो सकता है। इस फीचर के शुरू होने से करीब 30 लाख वैरिफाइड मर्चेंट अपने गूगल-पे ऐप के जरिए इंस्टेंट क्रेडिट सुविधा लाभ ले सकते हैं। 

भारत में बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने में मिलेगी मदद

इस मामले से वाकिफ एक एक्जीक्यूटिव के हवाले ईटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि गूगल भारत में एसएमई सेगमेंट में बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने के मकसद से यह फीचर लॉन्च कर रही है। कोविड-19 के कारण भारत का एसएमई सेगमेंट तेजी से डिजिटाइज हो रहा है और गूगल इस मौके का फायदा उठाना चाह रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, मर्चेंट को यह क्रेडिट सुविधा प्री-अप्रूव्ड आधार पर उपलब्ध कराई जाएगी। यह सुविधा 2018 में लॉन्च किए गए इंस्टेंट कंज्यूमर लोन जैसी है। अंडरराइटिंग और कलेक्शन की जिम्मेदारी भागीदार बैंकों की होगी।

मर्चेंट के लिए कई तरह के उत्पादों पर काम कर रही है गूगल-पे

गूगल-पे के सीनियर डायरेक्टर प्रोडक्ट मैनेजमेंट अंबरीश कांगे ने हाल ही में कहा था कि इस अनिश्चित समय में मर्चेंट और कंज्यूमर्स की मदद के लिए कंपनी विभिन्न प्रकार के उत्पादों पर काम कर रही है। कांगे ने कहा था कि मर्चेंट को लोन ऑफर करने के लिए हम अपने वित्तीय भागीदारों के साथ बातचीत कर रहे हैं। 

कंज्यूमर्स को इन बैंकों के जरिए लोन उपलब्ध कराती है गूगल-पे

  • एचडीएफसी बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • फेडरल बैंक
  • एक्सिस बैंक
  • कोटक महिंद्रा बैंक

यूपीआई ट्रांजेक्शन में गूगल-पे का दबदबा

देश में यूपीआई ट्रांजेक्शन सेगमेंट में गूगल-पे का दबदबा है। नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के मुताबिक, मई में देश में करीब 1.2 बिलियन ट्रांजेक्शन यूपीआई के जरिए हुए हैं। इसमें से 500 मिलियन ट्रांजेक्शन केवल गूगल-पे के जरिए हुए हैं।