चीन में 13 हजार करोड़ रु. में तैयार हो रहा कमल के आकार का दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम, 1 लाख होगी दर्शक क्षमता; ऐसे 3 स्टेडियम और बनाने की तैयारी

  • यह स्टेडियम 2022 तक तैयार हो जाएगा और चीनी फुटबॉल क्लब ग्वांगझू एवरग्रांड का होम ग्राउंड होगा
  • स्पेनिश फुटबॉल क्लब बार्सिलोना का कैम्प नाऊ फिलहाल सबसे बड़ा फुटबॉल स्टेडियम है, इसमें 99,354 दर्शक बैठ सकते हैं
  • भारत का मोटेरा दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है, इसकी दर्शक क्षमता चीन के नए बन रहे स्टेडियम से 10 हजार ज्यादा है

दैनिक भास्कर

Apr 21, 2020, 03:24 PM IST

चीन में कोरोनावायरस की वजह से बिगड़े हालात अब काबू में आने लगे हैं। वुहान, जहां से कोरोनावायरस पूरी दुनिया में फैला, उसे भी अब खोल दिया गया है। इस बीच, अपनी ताकत दिखाने के लिए चीन का एक रियल स्टेट ग्रुप एवरग्रांड दुनिया का सबसे बड़ा फुटबॉल स्टेडियम बनाने जा रहा है। इसके निर्माण में 1.7 बिलियन डॉलर( करीब 13 हजार करोड़) रुपए खर्च होंगे। इसकी दर्शक क्षमता 1 लाख होगी। फिलहाल, बार्सिलोना का कैम्प नाऊ दुनिया का सबसे बड़ा क्लब फुटबॉल स्टेडियम है। इसमें 99,354 दर्शक बैठ सकते हैं। 

ग्वांगझू में तैयार हो रहा स्टेडियम 2022 तक बनकर तैयार हो जाएगा। बीते गुरुवार को ग्वांगझू में इसका निर्माण कार्य भी शुरू हो गया। यह चीन के फुटबॉल क्लब ग्वांगझू एवरग्रांड का होम ग्राउंड होगा। निर्माण कार्य में जुटी रियल स्टेट कंपनी एवरग्राउंड के अध्यक्ष शिया हुजैन ने बताया कि हमारा लक्ष्य ऐसी इमारत बनाना है, जिसकी तुलना सिडनी के ओपेरा हाउस और दुबई के बुर्ज खलीफा से हो। यह स्टेडियम दुनिया में चीनी फुटबॉल की नई पहचान बनेगा। मुझे उम्मीद है कि 2023 के एशियन कप की ओपनिंग सेरेमनी इसी में होगी। फिलहाल एवरग्रांड क्लब का घरेलू मैदान तियान्हे स्टेडियम है। इसकी दर्शक क्षमता 60 हजार है। टीम 2011 से यहां प्रैक्टिस कर रही है।

कमल के आकार का है फुटबॉल स्टेडियम 

ग्वांगझू को फ्लावर सिटी कहा जाता है। इसलिए इस स्टेडियम का आकार कमल के फूल जैसा रखा गया है। इसे शंघाई के अमेरिकी डिजाइनर हसन सईद ने तैयार किया है। इसका कंस्ट्रक्शन एरिया करीब 3 लाख स्क्वायर मीटर होगा। इसमें कुल 16 वीवीआईपी रूम, 152 प्राइवेट रूम, फीफा सदस्यों और एथलीट्स के लिए अलग से एरिया और मीडिया रूम होगा।

एवरग्रांड 1 लाख दर्शक क्षमता वाले और स्टेडियम बनाएगा

ईएसपीएन के मुताबिक, रीयल स्टेट ग्रुप एरवग्रांड चीन में ऐसे 3 और स्टेडियम बनाने की प्लानिंग कर रही है। इनकी दर्शक क्षमता भी 80 हजार से 1 लाख होगी। इस तरह के इंफ्रास्ट्रक्चर के दम पर चीन भविष्य में फुटबॉल वर्ल्ड कप की मेजबानी का दावा कर सकता है। हालांकि, इसी साल चीन में फीफा क्लब वर्ल्ड कप होना था। लेकिन कोरोना की वजह से इसे 1 साल के लिए टाल दिया गया। 

ईएसपीएन के मुताबिक, रियल स्टेट कंपनी एरवग्रांड चीन में ऐसे 3 से 5 और स्टेडियम बनाने की प्लानिंग कर रही है। इनकी दर्शक क्षमता भी 80 हजार से 1 लाख होगी

ग्वांगझू एवरग्राउंड क्लब ने 8 बार चाइनीज सुपर लीग जीता

ग्वांगझू एवरग्रांड चीन और एशिया के सबसे सफल फुटबॉल क्लबों में से एक है। इस टीम ने 8 बार चाइनीज सुपर लीग और 2 बार एशियन चैम्पियंस लीग का खिताब जीता है। ऐसा करने वाला चीन का यह इकलौता क्लब है। इस साल भी इसे लीग का प्रबल दावेदार माना जा रहा था। लेकिन 22 फरवरी से शुरू होने वाला टूर्नामेंट कोविड-19 की वजह से रद्द कर दिया गया। 

यह तस्वीर ग्वांगझू की उसी कंस्ट्रक्शन साइट की है, जहां ये फुटबॉल स्टेडियम तैयार हो रहा है। इसमें सैंकड़ों की संख्या में ट्रक खड़े नजर आ रहे हैं। 

दुनिया के बड़े स्टेडियम
वैसे दर्शक क्षमता के लिहाज से उत्तर कोरिया का रुंगराडो सबसे बड़ा स्टेडियम है। 51 एकड़ में फैले इस स्टेडियम की दर्शक क्षमता 1 लाख 14 हजार से ज्यादा है। हालांकि, यह केवल फुटबॉल के लिए नहीं बल्कि दूसरे खेलों के लिए भी इस्तेमाल होता है। जबकि चीन में तैयार हो रहा स्टेडियम सिर्फ फुटबॉल के लिए होगा। 

  • एफएनबी स्टेडियम: दक्षिण अफ्रीका का यह फुटबॉल स्टेडियम बाहर से ज्यादा बड़ा नजर नहीं आता है। लेकिन इसकी दर्शक क्षमता 94,736 है। 2010 में हुए फीफा वर्ल्ड कप का यह मेन वेन्यू था। इसी स्टेडियम में देश की फुटबॉल टीम प्रैक्टिस करती है।
  • वेम्बले स्टेडियम: इंग्लैंड के वेम्बले स्टेडियम की दर्शक क्षमता भी 90 हजार है। हालांकि, इसमें भी फुटबॉल के अलावा एनएफएल और कई तरह कॉन्सर्ट भी होते हैं।  
  • मोटेरा स्टेडियम: गुजरात के अहमदाबाद में तैयार हुआ यह दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है। इसकी दर्शक क्षमता 1 लाख 10 हजार है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया का मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड यानी एमसीजी दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम था। इसमें 1 लाख दर्शक बैठ सकते हैं। मोटेरा के नए स्टेडियम के निर्माण में करीब 700 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *