चीन की कंपनी ने बनाई 20 लाख किलोमीटर चलने वाली इलेक्ट्रिक कार बैटरी; टेस्ला, बीएमडब्ल्यू और टोयोटा के ईवी में होगा इस्तेमाल

  • अब तक अधिकतम 2.4 लाख किलोमीटर तक चलने वाली बैटरी ही मार्केट में उपलब्ध थी
  • नई बैटरी की लाइफ 16 साल, मौजूदा बैटरियों के मुकाबले कीमत 10 फीसदी ज्यादा

दैनिक भास्कर

Jun 09, 2020, 05:40 AM IST

बीजिंग. टेस्ला और फॉक्सवैगन जैसी कंपनियों के लिए बड़े पैमाने पर इलेक्ट्रिक कार बैटरी बनाने वाली कंपनी एम्पेरेक्स टेक्नोलॉजी ने दावा किया है कि उसने ऐसी बैटरी बनाई है, जिसकी लाइफ 16 साल और 20 लाख किलोमीटर है। कंपनी के चेयरमैन झेंग युक्वुन ने एक इंटरव्यू में यह दावा किया।

यह कंपनी अभी 2.4 लाख किलोमीटर लाइफ वाली बैटरी बनाती है। यह बैटरी बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी भी है। कंपनी के ग्राहकों में टेस्ला के अलावा बीएमडब्यू और टोयोटा मोटर भी शामिल हैं।
बैटरी लाइफ बढ़ाना इलेक्ट्रिक कार इंडस्ट्री के लिए काफी अहम माना जा रहा है।

इलेक्ट्रिक वाहन रखने का खर्च काफी कम होगा

इससे एक बैटरी का इस्तेमाल दूसरी गाड़ी में भी हो पाएगा और इलेक्ट्रिक वाहन रखने का खर्च काफी कम होगा। कोरोना से पहले ईवी की बिक्री पूरी दुनिया में बढ़ रही थी। लेकिन, पिछले तीन महीनों से यह लगभग ठप है। ऐसे में बैटरी लाइफ बढ़ाने वाली खबर से इंडस्ट्री का मोमेंटम लौट सकता है।

ऑर्डर मिलने पर हम प्रोडक्शन के लिए तैयारः झेंग

झेंग ने कहा, ‘अगर कोई कंपनी इस बैटरी के लिए ऑर्डर देती है तो हम इसके प्रोडक्शन के लिए तैयार हैं। हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया है कि क्या किसी कंपनी ने इसके लिए अब तक संपर्क किया है या नहीं। झेंग ने कहा कि मौजूदा समय में इलेक्ट्रिक वाहनों में जो बैटरी लगी होती है उनसे इस बैटरी की कीमत 10 फीसदी ज्यादा होगी।

टेस्ला ने ज्यादा चलने वाली बैटरी बनाने का दावा किया था

बैटरी की क्षमता में कमी आना और कुछ साल में इसे बदलने की जरूरत जैसी कुछ ऐसी बाधाएं हैं, जिससे इलेक्ट्रिक वाहनों की तरक्की पर ब्रेक लगता रहा है। टेस्ला ने पिछले साल कहा था कि वह 10 लाख मील (16 लाख किलोमीटर)  तक चलने वाली बैटरी बनने की उम्मीद कर रहे हैं।

कंपनी के मुताबिक- 2021 से इसकी मांग में बढ़ोतरी होगी

वहीं, जनरल मोटर्स ने पिछले महीने कहा था कि वह इस लक्ष्य के काफी करीब है। इलेक्ट्रिक वाहन इंडस्ट्री में जल्द तेजी लौटने की उम्मीद कर रही एम्पेरेक्स टेक्नोलॉजी ने हाल-फिलहाल बैटरी की टेक्नोलॉजी पर खर्च काफी बढ़ा दिया है। चेयरमैन झेंग ने कहा कि इस साल तो बिक्री कम होगी लेकिन, 2021 से डिमांड में इजाफा होगा। 

बैटरी का इस्तेमाल टेस्ला की मॉडल 3 सेडान कारों में होगा 

सीएटीएल ने फरवरी में टेस्ला के साथ दो साल का करार किया था। टेस्ला इससे पहले जापान की पैनासोनिक और दक्षिण कोरिया की एलजी केम के साथ काम कर रही थी। कंपनी की बैटरी टेस्ला के मॉडल 3 सेडान कारों में इस्तेमाल होंगे। यह कार शंघाई के पास बनी टेस्ला की नई फैक्टरी में तैयार होगी।