गूगल ने इंट्रोड्यूस किया नया इमेज फैक्ट चेकिंग टूल, फर्जी इमेज और वीडियो पर रोक लगेगी रोक

  • सर्च रिजल्ट के फैक्ट की जांच प्रत्येक दिन 11 मिलियन से अधिक बार होती है
  • कई बार फर्जी वीडियो व इमेज की वजह से लोगों को नुकसान झेलना पड़ता है

दैनिक भास्कर

Jun 23, 2020, 10:29 PM IST

नई दिल्ली. फर्जी इमेज और वीडियो पर रोक लगाने के लिए सर्च इंजन गूगल (Google) ने खास पहल शुरू की है। फर्जी फोटो और वीडियो की पहचान के लिए इमेज सर्च टूल शुरू किया गया है। फेक इमेज की पहचान के लिए एक नया फैक्ट चेक मार्कर को जोड़ा गया है, जो गूगल सर्च रिजल्ट वाली इमेज के साथ दिखेगा।

बता दें कि यह टूल फेक फोटो की पहचान करके उनकी लेबलिंग करेगा। यह लेबल इमेज और वीडियो के वेब पेज के नीचे दिखेगा। फैक्ट चेक में इमेज के सोर्स से लेकर अन्य सभी जानकारी मिलेगी।

फोटो और वीडियो खास सोर्स

गूगल के प्रोडक्ट मैनेजर Harris Cohen ने कहा कि दुनियाभर में जानकारी का अहम सोर्स फोटो और वीडियो को माना जाता हैं। ऐसे में कई बार गलत विजुअल्स व इमेज की वजह से लोगों को नुकसान झेलना पड़ता है। गूगल ने कहा कि सर्च रिजल्ट के फैक्ट की जांच प्रत्येक दिन 11 मिलियन से अधिक बार होती है। 

इस्तेमाल करने के लिए क्या करें- 

Google पर इमेज सर्च करने पर फोटो के नीचे एक फैक्ट चेक लेबल दिखेगा, जो फोटो के नीचे thumbnail के तौर पर दिखेगा। यानी कि जब आप फोटो को लार्ज फारमैट में देखेंगे, तो वेब पेज के नीचे साइज एक फैक्ट चेक लेबल नजर आएगा।