खिलाड़ी बगैर किसी सिफारिश के आवेदन कर सकेंगे, मंत्रालय ने नियम में छूट देकर समय सीमा 22 जून तक बढ़ाई

  • खेल मंत्रालय ने खिलाड़ियों की दिक्कतों को देखते हुए अधिकारियों और एसोसिएशन की सिफारिश वाले कॉलम को खाली छोड़ने की छूट दी
  • आर्चरी फेडरेशन ऑफ इंडिया को अभी मान्यता बहाल नहीं हुई, इस कारण वह अपने तीरंदाजों के नाम की सिफारिश नहीं कर पा रहा था

दैनिक भास्कर

Jun 03, 2020, 04:08 PM IST

खेल मंत्रालय ने राष्ट्रीय खेल पुरस्कार के लिए सेल्फ नॉमिनेशन के तहत आवेदन जमा करने की समय सीमा 3 से बढ़ाकर 22 जून कर दी है। मंत्रालय के मुताबिक, नियम में छूट देने का कारण है कि कोई भी एथलीट, जो खुद को अवॉर्ड के योग्य समझता है, वह अप्लाई करने से वंचित न रहे सके।

कोरोना के कारण खिलाड़ियों को अधिकारियों और एसोसिएशन के पदाधिकारियों से सिफारिश करवाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। इस कारण अब तक कई खिलाड़ी आवेदन नहीं कर पाए हैं। खिलाड़ियों और एसोसिएशन की ओर से समय सीमा को आगे बढ़ाए जाने की मांग की जा रही थी। 

पहली बार खेल मंत्रालय ने ऑनलाइन आवेदन मंगाए
खेल मंत्रालय ने अवॉर्ड के लिए आवेदन में अधिकारियों और एसोसिएशन के सिफारिश करने वाले कॉलम को खाली छोड़ने की भी छूट दे दी है। कोरोना की वजह से इस बार नामांकन पहली बार ई-मेल के जरिए मंगाए हैं। आमतौर पर नामांकन भेजने की प्रक्रिया अप्रैल में ही शुरू हो जाती है, लेकिन इस बार लॉकडाउन की वजह से मई में आवेदन मांगे गए हैं।

सेपक टकरा से अर्जुन अवॉर्ड के लिए दो नाम भेजे
सेपक टकरा फेडरेशन ऑफ इंडिया के सेक्रेटरी  योगेंद्र सिंह दहिया ने बताया कि अर्जुन अवॉर्ड के लिए कुमार निकेन सिंह और संदीप कुमार का नाम भेजा है। जबकि द्रोणाचार्य अवॉर्ड के लिए साई में कॉन्ट्रैक्ट पर कायर्रत और टीम के चीफ कोच हेमराज का नाम भेजा है। सेपकटकरा एशियन गेम्स में शामिल है। 2018 एशियन गेम्स में पुरुष टीम को कांस्य पदक मिला था।

कुराश से 3 नाम अर्जुन अवॉर्ड के लिए भेजे
कुराश फेडरेशन ऑफ इंडिया के सेक्रेटरी रवि कपूर ने बताया कि कुराश से पिंकी बलहारा, मालाप्रभा यलप्पा जाधव और ज्योति का नाम अर्जुन अवॉर्ड के लिए भेजा है। उन्होंने बताया कि 2018 में पहली बार कुराश को एशियन गेम्स में शामिल किया गया था। पिंकी बलहारा ने सिल्वर और मालाप्रभा यलप्पा जाधव ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। जबकि ज्योति वर्ल्ड चैम्पियनशिप में मेडल जीत चुकी हैं। फेडरेशन को मान्यता नहीं होने के कारण साई की ओर से इन खिलाड़ियों के नाम की सिफारिश की जाएगी।

आर्चरी फेडरेशन को भी मान्यता नहीं
आर्चरी फेडरेशन ऑफ इंडिया को चुनाव के 5 महीने बाद भी मान्यता नहीं मिली है। ऐसे में वह राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए तीरंदाजों के नामों की सिफारिश नहीं कर सकता। कई तीरंदाज अर्जुन पुरस्कार के लिए अपने नामों की सिफारिश के चक्कर में राज्य संघों, खेल विभाग के अफसरों के आगे-पीछे घूमने को मजबूर हो रहे थे। अब वे खुद आवेदन कर सकेंगे।

तीरंदाजी से 4 नाम अर्जुन अवॉर्ड के लिए भेजे
तीरंदाजी के कंपाउंड राउंड से मध्यप्रदेश की मुस्कान किरार और दिल्ली के अमन सैनी अर्जुन अवॉर्ड के लिए आवेदन कर रहे हैं। इनके अलावा रिकर्व राउंड से पश्चिम बंगाल के अतनु दास और महाराष्ट्र के प्रवीण जाधव भी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *