क्या होता है हॉस्पिटल कैश इंश्योरेंस, जानिए यह कैसे लाभदायक होता है?

दैनिक भास्कर

Jun 15, 2020, 04:43 PM IST

समय में बदलाव के साथ इंश्योरेंस कंपनियों नए-नए प्रयोग करती रहती हैं। इसी के तहत इंश्योरेंस कंपनियां ने हॉस्पिटल कैश इंश्योरेंस बनाया है। इसे हॉस्पिकैश इंश्योरेंस भी कहा जाता है। आइए आपको बताते हैं कि यह क्या होता है और इसके क्या-क्या लाभ हैं…

क्या होता है हॉस्पिकैश इंश्योरेंस?

यह एक रोजाना हॉस्पिटल कैश बेनेफिट इंश्योरेंस हैं। इसमें बीमा कंपनी बीमाधारक को अस्पताल में भर्ती होने के लिए रोजाना आधार पर नकद भुगतान करती है। इसको हेल्थ इंश्योरेंस के साथ या अलग से भी लिया जा सकता है।

कैसे लाभदायक होता है?

इस इंश्योरेंस के तहत मिलने वाली राशि का इलाज पर होने वाले खर्च से कोई लेना-देना नहीं है। इस राशि को बीमाधारक किसी भी कार्य के लिए इस्तेमाल कर सकता है। यह वो खर्च हो सकते हैं जो हेल्थ इंश्योरेंस में कवर नहीं होते हैं। इसमें हॉस्पिटल में भर्ती रहने के दौरान होने वाला आय का नुकसान भी शामिल हैं। 

हेल्थ इंश्योरेंस से अलग होता है हॉस्पिकैश

हॉस्पिटल कैश इंश्योरेंस हेल्थ इंश्योरेंस से अलग होता है। इसमें इलाज पर होने वाले खर्च की कोई प्रतिपूर्ति नहीं की जाती है। यह केवल अन्य खर्चों की पूर्ति के लिए होता है। इस इंश्योरेंस के तहत क्लेम पाने के लिए केवल अस्पताल में भर्ती होने का सबूत देना पड़ता है। यह हेल्थ इंश्योरेंस का एक पूरक इंश्योरंस होता है।

कितनी राशि मिलती है?

हॉस्पिटल कैश इंश्योरेंस में केवल अस्पताल में भर्ती रहने के दिनों के आधार पर क्लेम मिलता है। यह क्लेम इंश्योरेंस के आधार पर होता है। इस इंश्योरेंस के तहत रोजाना अधिकतम 10000 रुपए तक का क्लेम मिलता है। अधिकतम 30-45 दिन तक भर्ती रहने के लिए क्लेम मिलता है। 

आईसीयू में भर्ती होने पर ज्यादा लाभ

यदि कोई बीमाधारक आईसीयू में भर्ती होते हैं तो उसे हॉस्पिटल कैश इंश्योरेंस के तहत ज्यादा लाभ मिलता है। अधिकांश कंपनियां रोजाना आधार पर मिलने वाली राशि को दोगुना कर देती हैं। हालांकि, पॉलिसी के आधार पर यह पांच गुना भी हो सकता है।