कोरोनावायरस की वजह से ईसीबी को 3600 करोड़ के नुकसान की आशंका, 800 दिन का क्रिकेट नहीं होगा

  • ईसीबी के चीफ एग्जीक्यूटिव टॉम हैरिसन ने कहा- हम टेस्ट क्रिकेट खेलकर इस नुकसान की भरपाई करेंगे
  • पहली बार होने जा रही ‘द हंड्रेड’ क्रिकेट लीग को भी 1 साल के लिए टाल दिया गया

दैनिक भास्कर

May 06, 2020, 08:49 AM IST

लंदन. कोरोनावायरस की वजह इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) को करीब 3600 करोड़ (380 मिलियन पाउंड) के नुकसान की आशंका है। ईसीबी के चीफ एग्जीक्यूटिव टॉम हैरिसन ने मंगलवार को सांसदों को यह जानकारी दी। 
हैरिसन के मुताबिक, कोरोना के कारण 1 जुलाई तक देश में प्रोफेशनल क्रिकेट पर पूरी तरह रोक है। ‘द हंड्रेड’ (100-100 गेंद का टूर्नामेंट) को भी अगले साल के लिए टाल दिया गया है। लीग इसी साल 17 जुलाई से 15 अगस्त तक होनी था। वहीं, लॉकडाउन की वजह से प्रोफेशनल क्लब को 800 दिन के क्रिकेट का नुकसान भी होगा। 

टेस्ट क्रिकेट खेलकर नुकसान की भरपाई करेंगे: ईसीबी

ईसीबी चीफ ने कहा कि इस साल लिमिटेड ओवर क्रिकेट होने की संभावना बेहद कम है। हालांकि, हम गर्मियों में टेस्ट क्रिकेट खेलकर इससे होने वाले नुकसान की कुछ हद तक भरपाई कर लेंगे। इंग्लैंड को जुलाई और अगस्त में वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलनी है। इसके अलावा आयरलैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी वनडे सीरीज प्रस्तावित है। 
‘द हंड्रेड’ क्रिकेट लीग कामयाब होगी
पहली बार इंग्लैंड में होने जा रही ‘द हंड्रेड’ लीग (100-100 गेंद का टूर्नामेंट) को कोरोना की वजह से एक साल के लिए टाल दिया गया है। इसके बावजूद ईसीबी चीफ को इसके सफल होने की पूरी उम्मीद है। उन्होंने कहा कि ईसीबी ने इस टूर्नामेंट के 1 लाख 70 हजार टिकट बेच दिए थे, जबकि पहले साल लीग का बजट करीब 376 करोड़ रुपए (40 मिलियन पाउंड) था। 1999 के बाद पहली बार बीबीसी पर क्रिकेट लाइव दिखाया जाना था। इससे रोमांच का अंदाजा लगाया जा सकता है। 

पहले साल में ही 103 करोड़ रु. के मुनाफे का अनुमान

हैरिसन ने कहा कि एक अनुमान के मुताबिक, लीग को पहले साल में ही करीब 103 करोड़ रुपए(11 मिलियन पाउंड) का मुनाफा हो सकता है। इससे पता चलता है कि हम कितनी मजबूत स्थिति में है। क्रिकेट वर्ल्ड कप को छोड़ दें, तो इससे पहले इंग्लैंड में किसी भी टूर्नामेंट के टिकट इतनी तेजी से नहीं बिके। 
‘क्रिकेट दर्शक बढ़ाने की कोशिश सही दिशा में’
उन्होंने आगे कहा कि युवाओं के अलावा परिवारों ने भी बड़ी संख्या में द हंड्रेड लीग के टिकट खरीदे। हमने देश में क्रिकेट दर्शक बढ़ाने की सोच को लेकर जो कदम उठाए, वह बिल्कुल सही दिशा में हैं।

हर फ्रेंचाइजी की महिला और पुरुष टीम होगी

द हंड्रेड’ लीग में पुरूषों और महिलाओं की 8- 8 टीम को हिस्सा लेना था। पिछले साल अक्टूबर में लीग की 8 टीमों ने ड्राफ्ट के जरिए पुरुष खिलाड़ियों का चयन कर लिया था, जबकि महिला टीम के लिए खिलाड़ियों की चयन प्रक्रिया चल रही थी। ईसीबी ने गर्मी की छुट्टियों को ध्यान में रखकर ‘द हंड्रेड’ लीग शुरू करने की योजना बनाई गई थी। हर फ्रैंचाइजी की एक महिला और एक पुरूष टीम होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *