कैपिटल्स ने सुपर किंग्स को सीजन के दोनों मैच हराए, 7वीं जीत के साथ पॉइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंची; धवन का IPL में पहला शतक

शारजाहएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

दिल्ली कैपिटल्स के ओपनर शिखर धवन ने 57 बॉल पर शतक जड़ा।

आईपीएल के 13वें सीजन के 34वें मैच में दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को 5 विकेट से हरा दिया। इस सीजन में दिल्ली ने चेन्नई को दूसरी बार शिकस्त दी है। टीम 9 में से 7 मैच जीतकर पॉइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंच गई। शिखर धवन ने 101 रन की पारी खेलते हुए आईपीएल में पहला शतक जड़ा। इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। मैच का स्कोरकार्ड देखने के लिए यहां क्लिक करें…

चेन्नई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 180 रन का टारगेट दिया। इसके जवाब में दिल्ली कैपिटल्स ने 5 विकेट गंवाकर 185 रन बनाते हुए मैच जीत लिया। धवन के अलावा मार्कस स्टोइनिस ने 24 और कप्तान श्रेयस अय्यर ने 23 रन की पारी खेली। चेन्नई के लिए दीपक चाहर ने सबसे ज्यादा 2 विकेट लिए। इनके अलावा सैम करन, शार्दूल ठाकुर और ड्वेन ब्रावो को 1-1 विकेट मिला।

अक्षर पटेल ने आखिरी ओवर में 3 छक्के जड़े
दिल्ली को आखिरी ओवर में जीत के लिए 17 रन चाहिए थे। अक्षर पटेल और धवन क्रीज पर थे। चेन्नई के कप्तान धोनी ने यह ओवर रविंद्र जडेजा को दिया। अक्षर ने इस ओवर में 4 बॉल खेलीं और 3 छक्के लगाते हुए मैच दिल्ली को जिता दिया।

दीपक ने दिल्ली को शुरुआती दो झटके दिए
दिल्ली की शुरुआत बेहद खराब रही थी। पृथ्वी शॉ लगातार दूसरे मैच के पहले ही ओवर में आउट हो गए। दिल्ली को शुरुआती दोनों झटके तेज गेंदबाज दीपक चाहर ने दिए। उन्होंने अपनी ही बॉल पर पृथ्वी शॉ का कैच लिया। उसके बाद अजिंक्य रहाणे (8) को सैम करन के हाथों कैच आउट कराया। ओपनर शिखर धवन एक छोर संभाले रहे और नाबाद रहते हुए टीम को जीत दिलाई।

चेन्नई की खराब शुरुआत रही

चेन्नई की शुरुआत बेहद खराब रही थी। टीम ने 4 विकेट गंवाकर 179 रन बनाए। मैच की दूसरी बॉल पर ओपनर सैम करन बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। तुषार देशपांडे ने उन्हें एनरिच नोर्तजे के हाथों कैच आउट कराया। इसके बाद डु प्लेसिस और शेन वॉटसन (36) ने दूसरे विकेट के लिए 67 बॉल 87 रन की पार्टनरशिप की। वॉटसन को नोर्तजे ने बोल्ड किया। नोर्तजे ने मैच में अपना दूसरा विकेट लेते हुए महेंद्र सिंह धोनी को विकेटकीपर एलेक्स कैरी के हाथों कैच आउट कराया।

डु प्लेसिस की आईपीएल में 16वीं फिफ्टी
सीएसके के लिए डु प्लेसिस ने 47 बॉल पर सबसे ज्यादा 58 रन की पारी खेली। यह लीग में उनकी 16वीं फिफ्टी रही। उनके अलावा अंबाती रायडू ने 45, वॉटसन ने 36 और रविंद्र जडेजा ने 33 रन की पारी खेली। वहीं, दिल्ली के तेज गेंदबाज एनरिच नोर्तजे ने 44 रन देकर 2 विकेट लिए। उनके अलावा कगिसो रबाडा और तुषार देशपांडे को 1-1 विकेट मिला।

चेन्नई ने आखिरी तीन ओवर में 45 रन बनाए
चेन्नई का स्कोर 17वें ओवर में 134 रन था। जडेजा और रायडू क्रीज पर थे। दिल्ली के तुषार पांडे के 18वें ओवर में दोनों ने मिलकर 13 रन जोड़े। रबाडा के 19वें ओवर में 16 रन आए। नोर्तजे के 20वें ओवर में जडेजा ने दो छक्के जड़े। जडेजा और रायडू ने सिर्फ 21 बॉल पर 5वें विकेट के लिए 50 रन की पार्टनरशिप की और चेन्नई का स्कोर 170 के पार पहुंचाया।

आईपीएल में रबाडा के नाम सबसे कम मैच में 50 विकेट

बॉल मैच
कगिसो रबाडा 27
सुनील नरेन 32
लसिथ मलिंगा 33
इमरान ताहिर 35
मिशेल मैक्लेघन 36

आईपीएल में 50 विकेट लेने के लिए रबाडा ने सबसे कम बॉल फेंकी

बॉलर बॉल
कगिसो रबाडा 616
लसिथ मलिंगा 749
सुनील नरेन 760
इमरान ताहिर 766
मोहित शर्मा 797

सस्ते-महंगे प्लेयर्स का परफॉर्मेंस
सीएसके की प्लेइंग इलेवन में कप्तान धोनी सबसे महंगे खिलाड़ी रहे। टीम उन्हें एक सीजन के 15 करोड़ रुपए देगी। धोनी ने 5 बॉल पर 3 रन बनाए। वहीं, दीपक चाहर (80 लाख रु) टीम के सबसे सस्ते खिलाड़ी रहे। उन्होंने 4 ओवर में 18 रन देकर 2 विकेट लिए।

दिल्ली की प्लेइंग इलेवन में रविंचद्रन अश्विन सबसे महंगे प्लेयर रहे। उन्हें टीम एक सीजन के 7.75 करोड़ रुपए देगी। अश्विन ने 3 ओवर में 30 रन दिए और उन्हें एक भी विकेट हासिल नहीं हुआ। तुषार देशपांडे 20 लाख रुपए के साथ टीम के सबसे सस्ते खिलाड़ी रहे। उन्होंने 4 ओवर में 39 रन देकर 1 विकेट लिया।

सीएसके में जाधव की वापसी

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने प्लेइंग इलेवन में एक बदलाव किया। पीयूष चावला की जगह केदार जाधव को शामिल किया गया। वहीं, दिल्ली की टीम में कोई बदलाव नहीं हुआ। पिछले मैच में चोटिल हुए कप्तान श्रेयस अय्यर ने फिट होकर वापसी की।

दोनों टीम में विदेशी खिलाड़ी
धोनी ने चेन्नई की प्लेइंग इलेवन में सैम करन, फाफ डु प्लेसिस, शेन वॉटसन और ड्वेन ब्रावो जैसे विदेशी खिलाड़ियों को शामिल किया। दिल्ली के कप्तान श्रेयस ने मार्कस स्टोइनिस, एलेक्स कैरी, कगिसो रबाडा और एनरिच नोर्तजे को मौका दिया।

दिल्ली अकेली टीम, जो अब तक फाइनल नहीं खेली; चेन्नई ने 3 बार खिताब जीता
दिल्ली अकेली ऐसी टीम है, जो अब तक फाइनल नहीं खेल सकी। हालांकि, दिल्ली टूर्नामेंट के शुरुआती दो सीजन (2008, 2009) में सेमीफाइनल तक पहुंची थी। वहीं, महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई ने लगातार दो बार 2010 और 2011 में खिताब जीता था। पिछली बार यह टीम 2018 में चैम्पियन बनी थी। वहीं चेन्नई पांच बार( 2008, 2012, 2013, 2015 और 2019) आईपीएल की रनरअप भी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *