कैंसर से जूझ रहे डिंको सिंह को स्पाइसजेट एंबुलेंस से दिल्ली लाया जाएगा, एशियन गेम्स में गोल्ड जीत चुके हैं

  • इम्फाल के रहने वाले पूर्व भारतीय बॉक्सर डिंको सिंह का लॉकडाउन के कारण इलाज रुका
  • अर्जुन और पद्म पुरस्कार से सम्मानित डिंको सिंह के लिए विजेंदर सिंह ने एक लाख रुपए जुटाए

दैनिक भास्कर

Apr 23, 2020, 04:50 PM IST

इम्फाल. लीवर कैंसर से जंग लड़ रहे भारतीय बॉक्सर डिंको सिंह भारत के लिए एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीत चुके हैं। इम्फाल में रह रहे 41 साल के डिंको की रेडिएशन थेरेपी लॉकडाउन के कारण नहीं हो पा रही है। इलाज के लिए उन्हें स्पाइसजेट की एयर एम्बुलेंस से इम्फाल से दिल्ली लाया जाएगा। बॉक्सर को एयर एम्बुलेंस की सेवा मुफ्त में दी जा रही है। यह फैसला स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने लिया है। वे बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) के अध्यक्ष भी हैं।

अर्जुन और पद्म पुरस्कार से सम्मानित डिंको सिंह की मदद के लिए भारत के अनुभवी मुक्केबाज विजेंदर सिंह और मनोज कुमार भी धन जुटा रहे हैं। विजेंदर ने कहा, ‘‘हम वॉट्सएप ग्रुप ‘हममें है दम’ के जरिए धन जुटा रहे हैं। हमने एक लाख रुपए से ज्यादा इकट्ठे कर लिए हैं, जो सीधे उनके खाते में जाएंगे।’’

राष्ट्र नायक को सेवा प्रदान करना स्पाइसजेट के लिए सौभाग्य की बात
डिंको सिंह को 25 अप्रैल को दिल्ली लाया जाएगा। अजय सिंह ने कहा, ‘‘लॉकडाउन के कारण डिंको सिंह का इलाज बीच में ही रुक गया। यह वास्तव में दुर्भाग्यपूर्ण है। हमारे राष्ट्र नायक को एयर एम्बुलेंस की सेवा प्रदान करना और उन्हें दिल्ली लाना स्पाइसजेट के लिए सौभाग्य की बात है। भारतीय बॉक्सर ने कई बड़े मुकाबले जीते हैं। हमारी प्रार्थना है कि वे इस जंग में भी जीत दर्ज करें।’’

इससे पहले खेल मंत्री किरण रिजिजू ने भी डिंको सिंह के इलाज के लिए हर संभव मदद मुहैया कराए जाने के लिए मणिपुर सरकार से बात की थी। बैंटमवेट मुक्केबाज डिंको सिंह ने बैंकाक में 1998 एशियाई गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *